Home » इंडिया » Priya Sachdev a new trend setter in lake city Udaipur.
 

लेकसिटी की बेमिसाल बेटी ने बदली समाज की सोच

पत्रिका ब्यूरो | Updated on: 13 April 2016, 14:19 IST

चाय की थड़ी पर अक्सर आपने पुरुषों को गपशप करते देखा होगा. लेकिन लड़कियों का चाय की थड़ी पर जुटना समाज को नागवार गुजरता है. इस दकियानूसी सोच को चुनौती दी है राजस्थान की एक बेटी ने.

जी हां झीलों की नगरी से इस बार बदलाव की बयार बही है. उदयपुर में चाय की एक ऐसी थड़ी है, जहां लड़कियां बिंदास खड़ी रहकर चाय की चुस्कियों के साथ नाश्ते और खेल के लिए भी वक्त निकाल लेती हैं.

दिलचस्प बात ये है कि चाय की ये थड़ी एक लड़की ही चला रही है. प्रिया सचदेव करीब चार महीने से उदयपुर में थ्री एडिक्शंस नाम से चाय की थड़ी चला रही हैं.  

पढ़ें:'कोख' के मासूमों को बचा रहीं बिहार की दो बेटियां

पहले इवेंट कंपनी चलाती थीं प्रिया

अगर आप सोच रहे हैं कि प्रिया किसी मजबूरी के चलते टी स्टॉल चला रही हैं तो आप गलत हैं. प्रिया कॉमर्स ग्रेजुएट हैं. पहले वो एक इवेंट कंपनी चलाती थीं.

जब कभी दोस्तों के साथ उनका चाय पीने का मन होता तो लड़के थड़ी पर चले जाते, लेकिन लड़कियों को रुकना पड़ता था. ऐसी कोई जगह नहीं थी जहां लड़कियां आराम से बैठकर चाय पी सकें.

यहीं से प्रिया के दिमाग में आइडिया आया कि एक ऐसी जगह होनी चाहिए जहां लड़कियां चाय की चुस्कियों का आनंद उठा सकें.
Priya sachdev 2


धमकियों से नहीं डरीं प्रिया

प्रिया ने जब अपनी मां से इस अनूठे आइडिया को शेयर किया तो पहले उन्होंने मना कर दिया. लेकिन बेटी की जिद के आगे आखिरकार मां को झुकना पड़ा. अब प्रिया का आइडिया हकीकत में तब्दील हो चुका था.

लेकिन समाज के ठेकेदारों को ये रास नहीं आया. कई बार उनकी थड़ी बंद कराने की कोशिशें हुईं. प्रिया का कहना है कि दिसंबर 2015 में पहली बार आयड़ पर जब चाय की थड़ी लगाई तो लोगों ने आपत्ति जताई.

ताना दिया गया कि लड़कियों को ठेले लगाना शोभा नहीं देता. लोगों ने पुलिस भेजी और कई बार धमकियां भी दीं. यही नहीं जब प्रिया ने एक हेल्पर साथ रखा तो उसे भी धमकी देकर भगा दिया गया.

पढ़ें:साहस, ईमानदारी, बहादुरी और सोनी सोरी

बेटियों के लिए खुशियों की 'प्याली'

इसके बावजूद प्रिया डटी रहीं. थड़ी को उन्होंने कुछ दूर पर शिफ्ट कर दिया. धीरे-धीरे उनके टी स्टॉल पर लड़कियों की तादाद बढ़ने लगी. प्रिया की इस अनूठी थड़ी पर चाय-कॉफी के साथ स्नैक्स, किताबें और खेलने के लिए गेम्स का भी इंतजाम है.

थड़ी पूरी तरह से नो स्मोकिंग जोन है. जिससे अगर लड़के यहां आएं तो धूम्रपान नहीं कर सकते. इसके अलावा फ्री वाई-फाई सुविधा भी दी गई है, जिसके चलते हर कोई यहां खिंचा चला आता है.

पढ़ें:विश्व महिला दिवसः रॉकस्टार मां की रॉकस्टार बेटी

First published: 13 April 2016, 14:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी