Home » इंडिया » Public health emergency in Delhi-NCR all schools closed till November 5th changed the time of government offices
 

दिल्ली-NCR में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी, पांच नवंबर तक स्कूल बंद, सरकारी दफ्तरों का भी बदला समय

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2019, 9:27 IST

राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता का स्तर लगातार गिरता जा रहा है. जिसके चलते दिल्ली सरकार 'स्वास्थ्य आपातकाल' की घोषणा की है. साथ ही दिल्ली के सभी स्कूलों को पांच नवंबर तक के लिए बंद कर दिया गया है. इसकी के साथ सुप्रीम कोर्ट के विशेषज्ञ पैनल पर्यावरण प्रदूषण प्राधिकरण राजधानी सहित पूरे एनसीआर में पांच नवंबर तक सभी निर्माण कार्यों पर प्रतिबंध लगा दिया है और दिल्ली में सभी सरकारी दफ्तरों का समय भी बदल दिया गया है.

दिल्ली और आसपास के इलाकों में तेजी से बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर शुक्रवार को ईपीसीए की बैठक हुई. बैठक के बाद चेयरमैन भूरेलाल ने कहा कि दिल्ली-एनसीआई में वायु की गुणवत्ता को सुधारने के लिए पंजाब और हरियाणा सरकार को पराली जलाने वालों के खिलाफ सख्त रुख अपनाने के निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि, प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली-एनसीआर में पांच नवंबर तक स्टोन क्रेशर और हॉट मिक्स प्लांट सहित कोयले से चलने वाली सभी फैक्ट्रियों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं.

इसी के साथ दिल्ली-एनसीआर में सर्दियों के मौसम में पटाखे चलाने पर पाबंदी रहेगी. भूरेलाल ने कहा कि दिवाली के बाद पटाखों और पराली के धुएं ने प्रदूषण के स्तर को खतरनाक तरीके से बढ़ा दिया है. इसके अलावा ईपीसीए ने दिल्ली, हरियाणा और यूपी के मुख्य सचिवों को पत्र लिखा है. जिसमें कहा है कि वह प्रदूषण रोकने के लिए कठोर कदम उठाए. बता दें कि दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 470 पर है, जो कि खतरनाक स्तर पर है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट कर राजधानी के सभी स्कूलों में पांच नवंबर तक छुट्टी की घोषणा की. उन्होंने कहा कि पराली के धुंए के कारण दिल्ली में प्रदूषण उच्च स्तर पर पहुंच गया है. इसलिए सरकार ने सभी स्कूलों को पांच नवंबर तक बंद रखने के का फैसला किया है.

क्या है प्रदूषण का पैमाना

बता दें कि एक्यूआई जब 0-50 होता है तो इसे अच्छी श्रेणी का माना जाता है. वहीं 51-100 के स्तर को संतोषजनक माना जाता है. इसके अलावा 101-200 को मध्यम और 201-300 को खराब के स्तर पर रखा गया है. वहीं 301-400 को अत्यंत खराब और 401-500 को गंभीर माना गया है. वहीं 500 से ऊपर एक्यूआई को बेहद गंभीर और आपात की श्रेणी में रखा गया है.

महाराष्ट्र से आई बड़ी खबर, शपथ लेने के लिए BJP ने 5 नवंबर के लिए बुक किया स्टेडियम

बता दें कि आईआईटी दिल्ली के पास इनदिनों पीएम 10 का स्तर 518 है. वहीं पीएम 2.5 का स्तर 462 है. वहीं आईजीआई एयरपोर् के आसपास पीएम 10 का स्तर 519 और पीएम 2.5 का स्तर 510 है. इसके अलावा लोधी रोड के आसपास पीएम 10 का स्तर 409 है और पीएम 2.5 का स्तर 477 माना गया है.

WhatsApp से जासूसी : कंपनी बोली- मई में भारतीय सरकार को हमने दी थी इसकी जानकारी

अरब सागर में फिर से बन रहा खतरनाक चक्रवाती तूफान, इन राज्यों में मचा सकता है तबाही

First published: 2 November 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी