Home » इंडिया » Pulwama Attack Anniversary: after Balakot Airstrike Pakistan scared till now
 

पुलवामा हमले के बाद भारत ने की थी बालाकोट में एयर स्ट्राइक, आज भी खौफ में है पाकिस्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2020, 10:20 IST
(File Photo)

One Year of Pulwama Attack: आज पुलवामा हमले की पहली बरसी है. आज ही के दिन 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में आतंकियों (Terrorist) ने सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर हमला किया. इस हमले में भारत ने अपने 40 वीर जवानों को हमेशा-हमेशा के लिए खो दिया. लेकिन भारत (India) ने अपने जवानों की शहादत का बदला लेने में देर नहीं की और 26 फरवरी 2019 की आधी रात को भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) ने पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में एयर स्ट्राइक कर दी. इस एयर स्ट्राइक में भारतीय वायु सेना (IAF) ने पाकिस्तान समर्थित कई आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया था.

पाकिस्तान ने इस बात शायद ही कल्पना की होगी कि पुलवामा हमले के बाद भारत इतनी जल्द पाकिस्तान को जवाब देगा, लेकिन जब बालाकोट में एयर स्ट्राइक हुई तो पाकिस्तान में खौफ पैदा हो गया, कि अगर उसने फिर से भारत के खिलाफ इस तरह का जहर उगलने की गलती की तो भारत देर नहीं करेगा. इस बात का खौफ आज भी पाकिस्तान में छाया हुआ है. इसीलिए पाकिस्तान की ओर से आशंका जताई गई है कि भारत अगले कुछ दिनों में कोई बड़ी कार्रवाई कर सकता है.

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता आएशा फारूकी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये बात कही. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान को डर है कि तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप एर्दोगान के इस्लामाबाद दौरे के बीच भारत कोई 'गैर जिम्मेदाराना कार्रवाई' कर सकता है.

द वीक में छपी खबर के मुताबिक, पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता आएशा फारूकी ने कहा कि, पाकिस्तान आने वाले दिनों में भारत की ओर की जाने वाली किसी भी कार्रवाई का प्रभावी तरीके से जवाब देने को तैयार है. उन्होंने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर तुर्की, पाकिस्तान का समर्थन करता है, जिससे भारत  चिढ़ा हुआ है. फारूकी ने कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति की यात्रा इस्लामाबाद और अंकारा के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और विस्तार देने के लिए काम करेगी.

आएशा फारूकी ने कहा कि अमेरिका भारत को लगातार हथियार दे रहा है, जिसका इस्तेमाल वह पाकिस्तान में हमलों के लिए कर सकता है. फारूकी ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले अमेरिका ने भारत को 1.9 बिलियन डॉलर के एयर डिफेंस सिस्टम बेचने को मंजूरी दी है, जो दुनिया की शांति के लिए ठीक नहीं है. पाकिस्तान का आरोप है कि इससे दक्षिण एशिया में हथियारों की होड़ लग जाएगी.

बता दें कि अमेरिका से मिली इंटिग्रेटेड एयर डिफेंस वेपन सिस्टम बेचने की मंजूरी से भारत अपने सशस्त्र बलों को अधिक अत्याधुनिक करने की तैयारी कर रहा है. गौरतलब है कि अमेरिका ने भारत को एकीकृत वायु रक्षा हथियार प्रणाली बेचने को मंजूरी दे दी है. इससे भारत को अपने सशस्त्र बलों को आधुनिक बनाने के साथ ही वर्तमान वायु रक्षा ढांचे को बढ़ाने में मदद मिलेगी.

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने पीएम मोदी को दिया वेलेंटाइन डे पर आने का न्योता

रिकॉर्ड: तीन महीने में BSNL, MTNL के 93,000 कर्मचारियों ने लिया रिटायरमेंट

पत्रकार बन गोरखनाथ मंदिर में घुसकर CM योगी पर हमला कर सकते हैं आतंकी- खुफिया अलर्ट

First published: 14 February 2020, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी