Home » इंडिया » Pulwama Attack: Indian Army was ready for conventional war with Pakistan after Balakot Airstrike
 

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के भीतर घुसकर युद्ध करने को तैयार बैठी थी भारतीय सेना, लेकिन..

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2019, 10:10 IST

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF काफिले पर आतंकी हमला हुआ था. इस हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयरस्ट्राइक की थी. इस एयरस्ट्राइक में जैश के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया गया था. कथित रूप से एयरस्ट्राइक में 200 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया गया था.

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि तब भारतीय सेना पाकिस्तान में घुसकर युद्ध करने को एकदम तैयार बैठी थी और मात्र सरकार के निर्देश का इंतजार कर रही थी. बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सरकार को स्पष्ट रूप से बता दिया था कि अगर पाकिस्तान किसी भी तरह का जमीनी हमला करता है तो सेना इससे निपटने और शत्रु की सीमा में घुसकर युद्ध लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है. 

यह जानकारी सेना के शीर्ष सूत्रों से मीडिया में आई है. सेना के सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना पाकिस्तान के साथ परंपरागत युद्ध के लिए तैयार बैठी थी. सेना के सूत्रों ने बताया कि पुलवामा हमले के बाद जब सरकार हवाई हमले समेत अलग-अलग विकल्पों पर विचार कर रही थी तब सेना प्रमुख ने सरकार को अपनी तैयारियों के बारे में जानकारी दी थी.

सूत्रों के अनुसार, जब सितंबर 2016 में उरी आतंकी हमला हुआ था, उसके बाद सेना ने 11 हजार करोड़ रुपये के आयुध खरीद अनुबंधों को अंतिम रूप दिया था. इसकी 95 फीसदी डिलीवरी भी हो चुकी है. 

गौरतलब है कि 14 फरवरी को पुलवामा में CRPF काफिले पर आतंकी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश के सबसे बड़े आतंकी प्रशिक्षण केंद्र पर एयरस्ट्राइक की थी. इसके बाद बौखलाहट में पाकिस्तान पलटवार करने की कोशिश में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाना चाह रहा था, लेकिन वायुसेना ने उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया था.

Video: कश्मीर में लोगों के लिए फरिश्ता बने सेना के जवान, नदी में उफान के बीच हेलिकॉप्टर से किया एयरलिफ्ट

JNU की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने कश्मीर को लेकर फैलाई फर्जी खबर, आर्मी ने बताया झूठा

First published: 20 August 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी