Home » इंडिया » Pulwama Attack: Kapil Sharma support Navjot Singh Sidhu then social media users says send him to Pakistan
 

पुलवामा अटैक: जब कपिल शर्मा ने सिद्धू का किया सपोर्ट तो लोगों ने कहा- 'इसे भी भेजो पाकिस्तान'

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 February 2019, 13:16 IST

पुलवामा हमले के बाद सोशल मीडिया पर अब कप‍िल शर्मा को बायकॉट करने की मांग उठ रही है. दरअसल कपिल ने नवजोत सिंह सिद्धू का सपोर्ट किया था. इसके बाद अब सोशल मीडिया पर #BoycottKapilSharma ट्रेंड कर रहा है. इससे पहले सोशल मीडिया पर #BoycottKapilSharmaShow और #UnsubscribeSonyTV ट्रेंड कर रहा था.

दरअसल, #BoycottKapilSharma ट्रेंड की वजह खुद कपिल शर्मा हैं. कपिल ने नवजोत सिंह सिद्धू को सपोर्ट किया है. कप‍िल ने एक इंटरव्यू में सिद्धू को शो से न‍िकाल जाने वाली खबरों पर कहा था कि किसी को बैन करना और सिद्धू को शो से हटाना आतंकवाद का हल नहीं है. कपिल ने कहा था कि हमें स्थायी हल को ओर देखना होगा.

कपिल ने कहा "पुलवामा हमले पर हम सरकार के साथ हैं, लेकिन हमें स्थायी हल की जरूरत है. पुलवामा में हुए कायरना हमले में हमारे जवान शहीद हुए हैं, जो नहीं भूलना चाहिए. दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए."

कपिल ने नवजोत सिंह सिद्धू का समर्थन करते हुए कहा कि ये बहुत छोटी चीजें हैं और ये सब किसी प्रोपगेंडा का हिस्सा भी हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि सिद्धू अपने काम में बिजी हैं इसलिए अर्चना पूरन सिंह ने हमारे साथ शूटिंग की.

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिल पर आतंकी हमले के बाद 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद देशभर में पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश पैदा हो गया था. देश में जगह-जगह पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगे थे. इस पर सिद्धू ने कहा था कि कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है.

सिद्धू ने कहा था कि ये एक बेहद ही कायराना हमला था. मैं इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं. हिंसा को किसी भी तरीके से जायज नहीं ठहराया जा सकता और जिन्होंने भी ऐसा किया है, उन्हें इसकी सजा मिलनी चाहिए. सिद्धू ने कहा था कि भारत-पाकिस्तान के बीच मुद्दों का स्थायी समाधान खोजने की जरूरत है. आतंकवादियों का कोई देश, धर्म और जाति नहीं होती. चंद लोगों की वजह से पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता.

First published: 19 February 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी