Home » इंडिया » Pulwama attack: NIA probes 15-km span, calls from Pakistan
 

पुलवामा हमला: NIA की जांच शुरू, पाकिस्तानी नंबरों के कॉल रिकॉर्डस की हो रही है जांच

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2019, 11:55 IST

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हो गए. इस आत्मघाती हमले की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने जांच शुरू कर दी है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि हमले में इस्तेमाल किया गया विस्फोटक लगभग 10-15 किलोग्राम आरडीएक्स हो सकता है. एनआईए और केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (सीएफएसएल) की अलग-अलग टीमों के साथ जम्मू और कश्मीर में विस्फोट स्थल का निरीक्षण करने के लिए पहुंचे.

एजेंसियां यह भी निर्धारित करने की कोशिश कर रही हैं कि 15 किमी लंबे हाईवे में ऐसा क्या है, जिसका इस्तेमाल आतंकियों द्वारा कई बार किया गया है. दोनों टीमों ने श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर श्रीनगर से लगभग 30 किलोमीटर दूर लेथपोरा में हमले के स्थल का दौरा किया और फ़ॉरेन्सिक जांच के लिए इलाके से तस्वीरें और वीडियो एकत्र किए.

 

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के राष्ट्रीय बम डेटा सेंटर (एनबीडीसी) की एक टीम ने भी हमले में इस्तेमाल किए गए IED की प्रकृति को जानने के लिए क्षेत्र का दौरा किया. एनआईए की टीम को पता चला है कि उसने सीआरपीएफ के कुछ सदस्यों से भी बात की, जो उस काफिले का हिस्सा थे और आत्मघाती कार हमलावर ने उन्हें निशाना बनाया था.

एजेंसियों ने संदिग्ध कॉल और उन पर हमले के समय के आसपास के लोगों की जानकारी भी एकत्र कर रही है. जैश-ए-मोहम्मद के दावा करने की जिम्मेदारी के साथ, जांचकर्ता उन संदिग्ध नंबरों के रिकॉर्ड की जांच कर रहे हैं जिनसे सीमापार से कॉल किये गए थे. सूत्रों ने कहा कि चूंकि हमले में इस्तेमाल किया गया वाहन एक घातक आईईडी के साथ लादने के बावजूद अनियंत्रित हो गया, जांचकर्ताओं को संदेह है कि आईईडी को लेथपोरा में कार में इकट्ठा किया गया था.

Pulwama Attack: आतंकी हमले के बाद जम्मू में हिंसक झड़पें, DIG समेत 40 घायल

First published: 16 February 2019, 11:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी