Home » इंडिया » Pulwama Attack: Pakistan Foreign Minister Shah Mahmood Qureshi asks india for evidence
 

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने मांगे सबूत, कहा- आरोप साबित होने पर देंगे भारत का पूरा सहयोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2019, 17:12 IST

पाकिस्तान के दोगलेपन से पूरी दुनिया वाकिफ है. पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पुलवामा हमले में पाक का हाथ होने का सबूत मांगा है. शनिवार को इस हमले पर टिप्पणी करते हुए कुरैशी ने कहा कि अगर भारत हमले से संबंधित कोई भी सबूत हमारे साथ साझा करता है तो हम इसकी जांच में भारत का पूरा सहयोग करने को तैयार हैं. इसके साथ ही कुरैशी ने कहा कि ''हिंसा न हमारी नीति थी और ना ही अब है'' और इस आत्मघाती हमले की निंदा की है.

एक तरफ तो खुद को आतंकवाद से पीड़ित दिखाकर विश्व से सहानुभूति की आशा रखता है तो दूसरी तरफ पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया को अपना मेहमान बनाकर रखता है. हालांकि भारत ने इससे पहले कई बार नापाक पाकिस्तान को सबूत दिया है चाहे वो 26/11 का मुंबई हमला हो या पठानकोट लेकिन पाकिस्तान ने कोई करवाई नहीं की है.

भारत केे सहयोग को तैयार पाकिस्तान ?

कुरैशी ने सीधे तौर पर कहा, ''यदि भारत के पास पुलवामा हमले में पाकिस्तान के लिप्त होने का कोई सबूत है, तो उसे हमसे साझा करना चाहिए. हम पूरी ईमानदारी से इस हमले की जांच करेंगे. हम ये भी पड़ताल करेंगे कि सबूत कितना सही है. मैं पूरे दावे के साथ कहता हूं कि हम इसमें भारत का सहयोग करेंगे, क्योंकि हम भी किसी तरह की अशांति नहीं चाहते हैं.''

पाकिस्तान पर आरोप लगाने में भारत ने जल्दबाजी की: कुरैशी

गौरतलब है कि कुरैशी इस वक्त जर्मनी में म्यूनिख सुरक्षा सम्मलेन में भाग लेने के लिए मौजूद है. पाकिस्तानी विदेश मंत्री का यह यह बयान रिकॉर्डेड वीडियो में जारी किया गया है. इस वीडियो में कुरैशी ने दावा किया है कि भारत ने बगैर जांचे और बिना सोचे-विचारे तुरंत ही इस हमले का दोष पाकिस्तान पर मढ़ दिया. कुरैशी ने आगे कहा पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराना बेहद आसान है, लेकिन इससे समस्या का कोई हल नहीं निकाला जा सकता है. बगैर सबूत दुनिया भी इन आरोपों को मानने को तैयार नहीं होगा. कुरैशी के इस बयान को पाकिस्तान के सत्तारूढ़ दल पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से जारी किया गया है.

First published: 17 February 2019, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी