Home » इंडिया » Pulwama terror attack separatist leaders Mirwaiz Umar Farooq and other 3 leaders security Home minister Rajnath Singh
 

पुलवामा हमले के बाद सरकार का बड़ा कदम, हुर्रियत के 5 नेताओं की हटाई गई सुरक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2019, 12:12 IST

पुलवामा हमले के बाद सरकार ने हुर्रियत के नेताओं के खिलाफ बड़ा कदम उठाया है. केंद्र सरकार ने तत्काल प्रभाव से हुर्रियत के पांच नेताओं को दी गई सुरक्षा को हटा लिया है. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए मीरवाइज उमर फारुक समेत पांच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है.

बता दें कि गुरुवार को जैश--मोहम्मद ने फिदाईन हमले में सीआरपीएफ के काफिले की एक गाड़ी को उड़ा दिया था. इस हमले में सीआरपीएफ के 4० से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. उसके बाद भारत सरकार ने स्पष्ट कर दिया था कि आतंकियों के साथ उनके मददगारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि मीरवाइज उमर फारुक के अलावा अब्दुल गनी बट्ट, हाशिम कुरैशी, बिलाल लोन, शब्बीर शाह की भी सुरक्षा हटाई गई है. साथ ही सरकार ने ये भी स्पष्ट किया गया है कि इन पांचों नेताओं और अन्य अलगाववादियों को किसी भी चीज की आड़ में सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाएगी.

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के साथ संदिग्ध तौर पर संपर्क रखने वाले कश्मीर के अलगाववादी नेताओं को मिली सुरक्षा की समीक्षा की थी. इसके बाद ये फैसला लिया गया कि इन पांच नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली जाए.

एक शीर्ष अधिकारी के मुताबिक, केंद्र सरकार ने एक सुझाव दिया था जिसके बाद ऐसे व्यक्तियों को मिली सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी, जिन पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के साथ संबंधों का शक है.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को श्रीनगर में हुर्रियत कान्फ्रेंस के नेताओं समेत अलगाववादियों का परोक्ष जिक्र करते हुए कहा कि, "पाकिस्तान और उसकी जासूसी एजेंसी ISI से धन पा रहे लोगों को दी गई सुरक्षा पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए. ऐसे तत्व और ताकतें हैं जो पाकिस्तान और ISI से धन लेते हैं. मैंने संबंधित अधिकारियों से उनकी सुरक्षा पर पुनर्विचार करने को कहा है.”

गृह मंत्री सिंह ने कहा कि, "जम्मू-कश्मीर में कुछ तत्वों के तार ISI और आतंकवादी संगठन से जुड़े हैं, लेकिन सरकार उनकी सोच को परास्त करेगी. ऐसे लोग जम्मू कश्मीर की जनता और राज्य के युवाओं के भविष्य के साथ खेल रहे हैं. आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई निर्णायक दौर में है और मैं देश को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम इसमें जीतेंगे.”

ये भी पढ़ें- पुलवामा हमले के बाद पाक को सर्जिकल स्ट्राइक से लगा डर, LOC से खाली कराए आतंकी ठिकाने

First published: 17 February 2019, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी