Home » इंडिया » Punjab: Security deployment outside Golden Temple where 32nd anniversary of Operation Bluestar being observed today
 

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी: अमृतसर में खालिस्तान के समर्थन में नारेबाजी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(एएनआई)

पंजाब में ऑपरेशन ब्लू स्टार के 32 साल पूरे होने पर अमृतसर में कड़े सुरक्षा इंतजाम हैं. अमृतसर में स्वर्ण मंदिर परिसर और उसके आस-पास के इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है.

चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात हैं. वहीं, कट्टरपंथी सिख संगठन दल खालसा ने अमृतसर बंद का एलान किया है. संगठन के लोगों ने सुबह खालिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए.

पुलिस का कहना है कि किसी भी स्थिति में जबरन दुकानें या अन्य व्यावसायिक संस्थान बंद नहीं कराने दिया जाएगा. एहतियात के तौर पर पंजाब पुलिस ने करीब 130 लोगों को नजरबंद कर दिया है. इनमें से ज्यादातर कट्टरपंथी सिख संगठन के लोग ही हैं.

8000 पुलिसकर्मी तैनात

पुलिस ने खालसा, यूनाइटेड अकाली दल और शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के कई नेताओं को हिरासत में लिया है. रातभर पुलिस ने छापेमारी की.

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी को ध्यान में रखते हुए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) सिविल और पुलिस प्रशान के लोगों ने सुरक्षा इंतजामों को लेकर पहले ही कई तरह की रणनीतियां बनाई हैं. शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 8000 पुलिसकर्मियों को लगाया गया है.

पढ़ें: आॅपरेशन ब्लूस्टार की बरसी और पंजाब का माहौल

इसके अलावा पैरा मिलिट्री फोर्स आरएएफ, सीआरपीएफ और आईटीबीपी के जवानों को भी तैनात किया गया है. एसजीपीसी ने मंदिर में सुरक्षा के लिए करीब 500 कर्मचारियों को लगाया है, जबकि अकाली दल ने भी पार्टी कार्यकर्ताओं को सहयोग करने को कहा है.

गोल्डेन टेंपल में खुफिया विभाग और पुलिस विभाग के लोग सादी वर्दी में तैनात हैं. जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं. सुबह सात बजे भोग सेरेमनी शुरू हुई. अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सिख समुदाय के लिए संदेश पढ़ा. अकात तख्त ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

First published: 6 June 2016, 9:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी