Home » इंडिया » Radiation from Mobile towers doesn't impact human health: Ravishankar Prasad
 

मोबाइल टावरों के रेडिएशन से सेहत पर नहीं पड़ता दुष्प्रभावः रविशंकर प्रसाद

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मोबाइल टावरों से होने वाला रेडिएशन मानव स्वास्थ्य पर असर नहीं डालता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की एक शोध का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि 1971 से लेकर अब तक 30 हजार शोध सैंपल लिए गए. 

बृहस्पतिवार को उन्होंने कहा कि "डब्लूएचओ की रिपोर्ट के विस्तृत अध्ययन के बाद मैंने पाया कि टावर रेडिएशन का स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ता है. इस बात को खारिज करने का कोई कारण नहीं है. हमने पहले ही भारत में टेलीकॉम कंपनियों के लिए 10 गुना सख्त मानक लगा रखे हैं." 

नियमों का उल्लंघन होने पर 10 लाख रुपये का जुर्माना है जबकि निर्धारित से ज्यादा रेडिएशन होने पर 10 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का जुर्माना लगाया है. उन्होंने यह भी कहा कि कॉल ड्रॉप और मोबाइल टावरों से जुड़ी शिकायतें हाथों हाथ दूर नहीं हो सकतीं. 

पढ़ेंः भूलकर भी मत धोएं अपनी जींसः Levi's सीईओ

प्रसाद ने कहा कि गहन अध्ययन के बावजूद इस बात के कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिले हैं कि टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर के कारण स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता हो. कम से कम छह मामलों में हाईकोर्ट ने भी ऐसे दावों को खारिज कर दिया है.

उन्होंने टेलीकॉम टावरों के खिलाफ बढ़ती शिकायतों के पीछे का तर्क पूछते हुए सवाल किया कि अमेरिका और चीन में लोगों को ऐसी शिकायतें क्यों नहीं हैं. 

इस दौरान देश भर की तमाम आईआईटी समेत अन्य संस्थानों के 24 वैज्ञानिकों ने भी मंच पर आकर बताया कि मोबाइल टावरों से होने वाला रेडिएशन केमिकल बॉन्ड्स को खंडित नहीं कर सकता. 

पढ़ेंः 'उपवास रखने से बढ़ती है शरीर की प्रतिरोधक क्षमता'

प्रसाद ने इस बात को पुख्ता करने के लिए मद्रास, बॉम्बे, हैदराबाद, दिल्ली स्थित आईआईटी और आईआईएससी बंगलुरू के कुछ संकाय सदस्यों द्वारा रिपोर्ट भी जारी की.

First published: 8 April 2016, 6:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी