Home » इंडिया » Raebareli train accident: ATS is investigating about the terrorist conspiracy in this accident
 

रायबरेली ट्रेन हादसे के पीछे आतंकियों की साजिश? ATS ने शुरू की जांच

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2018, 11:32 IST

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में आज सुबह एक बड़ा ट्रेन हादसा हो गया. न्यू फरक्का एक्सप्रेस की नौ बोगियां पटरी से उतर गईं. इस हादसे में अभी तक कुल 6 लोगों की मौत की खबर आ चुकी है. वहीं 20 से ज्यादा लोग बुरी तरह घायल हैं. इस बड़े ट्रेन हादसे के पीछे की वजह जाने के लिए उत्तर प्रदेश की एटीएस (Anti-Terrorism Squad) टीम मौके पर पहुंच रही है. इससे इस बड़े हादसे के पीछे किसी आतंकी साजिश के होने की आशंका है.

गौरतलब है कि जिस जगह पर ये हादसा हुआ है वहां पर ट्रेन की पटरियां टूटी हुई पाई गई हैं. अब यूपी एटीएस इन्हीं पहलुओं को टटोलने के लिए घटनास्थल मौके पर पहुंच रही है. हालांकि एटीएस की जांच को लेकर मौजूद पुलिस अधिकारी कोई भी बयान देने से बच रहे हैं. अधिकारीयों का कहना है कि घटनास्थल पर प्रथम जांच के आधार पर जब पटरिया टूटी हुई मिलीं तो ये किसी साजिश की तरह हैं. इसीलिए इस मामले में ATS की जाँच की जाएगी.

 

गौरतलब है कि इसके पहले भी मुजफ्फरनगर रेल हादसे में भी ऐसी ही किसी साजिश के शक में एटीएस जांच हुई थी. तब एटीएस हादसे में टेरर एंगल को खोज रही थी. हालाँकि खोज में ऐसा कुछ भी नहीं पाया गया था. इतना ही नहीं पिछले साल ही बिहार में आतंकियों ने पटरी पर IED रख दिया था, जिसके कारण एटीएस का शक गहराया था.

गौरतलब है कि 2017 के अगस्त माह में पुरी से हरिद्वार जा रही कलिंग उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर गई थी. ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतरकर आस पास के इलाके में गिरे थे. ट्रेन के डब्बे घरों और एक स्कूल में घुस गए. इस हादसे में 23 लोगों की मौत हुई थी.

उत्तर प्रदेश में बड़ा रेल हादसा, पटरियों से उतरी नई फरक्का एक्सप्रेस, अब तक 5 की मौत

बता दें कि एटीएस टीम का काम किसी भी घटना में उसे किसी आतंकी घटना से जुड़े होने की आशंकाओं का पता लगाना है. अगर हादसे में कुछ आतंकी गतिविधि पाई जाती है तो उसपर ATS एक्शन लेती है.

First published: 10 October 2018, 11:32 IST
 
अगली कहानी