Home » इंडिया » Rafael Deal: Defense Minister Sitharaman questions raised on newspaper report; Congress asks JPC probe
 

राफेल डील: रक्षा मंत्री सीतारमण ने अख़बार की रिपोर्ट पर उठाये सवाल, कांग्रेस ने मांगी JPC जांच

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2019, 14:00 IST

आज लोकसभा में अख़बार द हिन्दू की उस रिपोर्ट पर खूब हंगामा हुआ जिसमें कहा गया था कि रक्षा मंत्रालय द्वारा फ्रांस से किये गए राफेल सौदे में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने हस्तक्षेप किया. रिपोर्ट में कहा गया था कि रक्षा मंत्रालय ने इसका विरोध किया. रिपोर्ट के अनुसार इस हस्तक्षेप से सौदे में रक्षा मंत्रालय का पक्ष कमजोर हो गया. अख़बार ने इसको लेकर डिफेन्स सचिव का वह नोट भी जारी किया था.

सीतारमण ने कहा कि ''एक अखबार ने रक्षा सचिव द्वारा लिखित एक फाइल प्रकाशित की, यदि कोई समाचार पत्र इसे प्रकाशित करता है, तो पत्रकारिता की नैतिकता यह होती है कि अखबार तत्कालीन रक्षा मंत्री के जवाब को भी प्रकाशित करता. लोकसभा में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसके जवाब में कहा कि तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने उस MoD नोट पर जवाब दिया था, जिसे अख़बार ने नहीं बताया. निर्मला सीतारमण ने कहा कि रक्षा मंत्री ने कहा कि इसमें चिंता करने की कोई बात नहीं, सब ठीक हो रहा है.

 

इससे पहले लोकसभा में विपक्ष के नेता, मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस सौदे की संयुक्त संसदीय जांच की मांग करते हुए कहा कि सत्ता पक्ष से अधिक स्पष्टीकरण की आवश्यकता नहीं है. हालांकि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आरोपों को खारिज कर दिया.

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद ने इस मुद्दे को उठाने की मांग की, लेकिन सभापति एम. वेंकैया नायडू ने उन्हें यह कहते हुए रोक दिया कि उन्होंने इस मुद्दे पर नियम 267 के तहत कांग्रेस सदस्यों द्वारा नोटिस पर अंतिम निर्णय सुरक्षित रखा है. नायडू ने कहा कि वह इसकी अनुमति नहीं दे सकते और सोमवार तक के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी.

राफेल सौदा : 'PM मोदी के दफ्तर ने किया था डील में हस्तक्षेप, रक्षा मंत्रालय ने किया विरोध'

First published: 8 February 2019, 14:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी