Home » इंडिया » Rafale : Anil Ambani says Supreme Court ruling shows allegations were wild and baseless
 

राफेल को लेकर मीडिया पर मानहानि ठोकने वाले अनिल अंबानी ने SC के फैसले पर दी ये प्रतिक्रिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 December 2018, 14:31 IST

रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी ने राफेल डील पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. सुप्रीम कोर्ट ने राफेल जेट सौदे की जांच की मांग वाली करने वाली सभी याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया. अंबानी ने कहा कि सौदे को लेकर उनकी कंपनी के खिलाफ लगाए गए आरोप आधारहीन और राजनीतिक रूप से प्रेरित थे.

अंबानी और उनकी कंपनी इस सौदे में ऑफसेट कंपनी के रूप में राजनीतिक विवाद के केंद्र में थीं, जिसके कारण इस सौदे की जांच की मांग करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी. अदालत ने शुक्रवार को उन सभी को खारिज कर दिया और कहा कि समझौते में कॉर्पोरेट पक्षपात दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है.

कांग्रेस लगातार दावा कर रही थी कि राफेल सौदे के लिए मोदी सरकार ज्यादा दाम चुका रही है और इस सौदे से अनिल अंबानी को फायदा हुआ है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों को सितंबर में पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के उस दावे ने बल दिया था कि भारत सरकार ने सौदे में ऑफसेट दायित्वों के लिए अंबानी के रिलायंस डिफेंस का नाम प्रस्तावित किया था.

अंबानी ने शुक्रवार को कहा: "हम भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं और रक्षा के महत्वपूर्ण क्षेत्र में सरकार के 'मेक इन इंडिया' और 'स्किल इंडिया' नीतियों के प्रति विनम्र योगदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं." हाल के महीनों में अनिल अंबानी की कंपनी ने राफेल सौदे के बारे में सवाल उठाने पर मीडिया संगठनों, पत्रकारों और राजनेताओं के खिलाफ मानहानि के मुकदमे दायर किए थे.

ये भी पढ़ें : Rafale deal : पाक-साफ निकली मोदी सरकार, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की सभी जांच याचिकाएं

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह मामला शुरुआत से ही साफ़ था और कांग्रेस ने राजनीतिक लाभ के लिए आधारहीन आरोप लगाए. बीजेपी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा: "हर सौदा बोफोर्स सौदा नहीं है. यह देश की राष्ट्रीय सुरक्षा की लागत पर ऐसे सौदों से पैसे कमाने के लिए कांग्रेस और उसके शीर्ष नेतृत्व की संस्कृति और परंपरा है."

मामला संसद में भी पहुंचा, बीजेपी ने कांग्रेस और राहुल गांधी के खिलाफ नारे लगाए और संसदीय मामलों के मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने उनसे माफ़ी मांगने को कहा. सोमवार तक संसद के दोनों सदनों को स्थगित कर दिया गया है.

First published: 14 December 2018, 13:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी