Home » इंडिया » Rafale deal case: CJI Ranjan Gogoi reproach Senior SC lawyer Prashant Bhushan
 

Rafale Deal पर सुनवाई के दौरान CJI रंजन गोगोई ने वकील प्रशांत भूषण को लगाई फटकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 November 2018, 12:17 IST

राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने प्रशांत भूषण को फटकार लगाई. सीजीआई ने कहा, "मिस्टर भूषण, जल्दबाजी न करें." इसके बाद प्रशांत भूषण ने जल्दबाजी के चलते अपनी भूल स्वीकार की. दरअसल प्रशांत भूषण से सुप्रीम कोर्ट में दलील पेश करते हुए दस्तावेजों को सौंपने में जल्दबाजी हुई थी.

बता दें कि राफेल डील को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिकाओं पर आज सुनवाई हो रही है. सुप्रीम कोर्ट राफेल डील की कीमत और उसके फायदों की जांच कर रहा है. केंद्र की मोदी सरकार ने पिछली सुनवाई में 36 राफेल लड़ाकू विमानों की कीमत और उसके फायदे के बारे में कोर्ट को सीलबंद दो लिफाफों में रिपोर्ट सौंपी थी.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस के कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ इस मामले में सुनवाई कर रही है. इसमें याचिकाकर्ता अपनी दलीलें पेश कर रहे हैं. याचिकाकर्ताओं ने सौदे की अदालत की निगरानी में जांच की मांग की है. 

दलील के समय वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि पहले इस डील में 108 विमान भारत में बनाने की बात की जा रही थी. यहां तक कि 25 मार्च 2015 को दसॉल्ट और HAL में करार भी हुआ और दोनों ने कहा कि 95 फीसदी बात हो गई है. लेकिन फिर 15 दिन बाद ही प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान नई डील सामने आई जिसमें 36 राफेल विमान पक्के हुए. और मेक इन इंडिया को किनारे कर दिया गया.

First published: 14 November 2018, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी