Home » इंडिया » Rafale fighter jets first batch take off from France to India will reach Ambala
 

चीन सीमा विवाद के बीच भारत के लिए बड़ी खुशखबरी, राफेल विमानों का पहली खेप फ्रांस से रवाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2020, 14:56 IST

Rafale Fighter Jet: भारत-चीन सीमा विवाद के बीच देश के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आई है. राफेल विमानों की पहली खेप फ्रांस से भारत के लिए रवाना हो गई है. इसके साथ ही भारत की ताकत काफी बढ़ने वाली है. 5 राफेल विमानों की खेप ने आज फ्रांस से भारत के लिए उड़ान भर दी है.

ये पांचों फाइटर जेट 29 जुलाई यानि बुधवार को हरियाणा के अम्बाला स्थित एयर फोर्स स्टेशन पर लैंड करेंगे. इसके साथ ही राफेल अ गले महीने वायुसेना में शामिल हो जाएगा. फ्रांस से उड़ान भरने के बाद राफेल 10 घंटे की दूरी तय कर सयुंक्त अरब अमीरात में फ्रांस के एयरबेस अल धफरा पर लैंड करेगा. इसके बाद अगले दिन ये पांचों विमान अम्बाला के लिए उड़ान भरेंगे. 

लद्दाख में किया जा सकता है तैनात

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इन राफेल विमानों को जरूरत पड़ने पर भारत-चीन विवाद को देखते हुए लद्दाख में एक हफ्ते के भीतर तैनात किया जा सकता है. राफेल भारतीय वायु सेना के 17 वें स्क्वाड्रन गोल्डेन एरोज का हिस्सा बनेगा. यह राफेल विमान से सुसज्जित पहला स्क्वाड्रन होगा.

बता दें कि फ्रांस से यूएई की यात्रा के दौरान राफेल विमान के साथ हवा में ईंधन भरने वाले दो रिफ्यूलर भी आएंगे. जिन भारतीय वायु सेना के पायलट ने राफेल उड़ाने की ट्रेनिंग ली है, वही इन विमानों को उड़ाकर भारत लाएंगे. यह विमान 29 जुलाई को अम्बाला पहुंचेंगे. इसके बाद औपचारिक रूप से अगस्त में इन्हें भारतीय वायुसेना में शामिल किया जाएगा. 

 

चीन-पाकिस्तान के पास नहीं है यह क्षमता

बता दें कि राफेल विमान मीटोर एयर टू एयर मिसाइल से सुसज्जित है. इसकी मारक क्षमता 150 किमी है. राफेल बिना सीमा पार किये दुश्मनों के विमान को नेस्तनाबूद कर सकता है. राफेल से पहले मीटोर एयर टू एयर मिसाइल अम्बाला पहुंच चुका है. यह क्षमता चीन और पाकिस्तान के पास नहीं है. अम्बाला में राफेल के इंडक्शन समारोह में किसी भी मीडिया को इजाजत नहीं दी गयी है.

बारिश-बाढ़ ने असम और बिहार में बरपाया कहर, 20 और लोगों की मौत, उफान पर पूर्वी यूपी की नदियां

अब कंपनियों को नहीं मिल रहे मजदूर, फ्री प्लेन टिकट के बाद भी वापस लौटने को तैयार नहीं

First published: 27 July 2020, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी