Home » इंडिया » Rafale verdict: Congress demands JPC probe
 

Rafale deal : सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी कांग्रेस पार्टी अड़ी है JPC जांच की मांग पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 December 2018, 14:18 IST

राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी कांग्रेस पार्टी ने संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) की मांग जारी रखी है. कांग्रेस का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट राफले सौदे की विधियों पर चर्चा करने का मंच नहीं था. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि एकमात्र मंच एक संयुक्त संसदीय समिति है, जो राफले सौदे में पूरे भ्रष्टाचार की जांच करेगा. 

सुरजेवाला ने कहा कि जेपीसी यह पता लगाएगा कि आरोपी लोग कौन हैं और फिर कानून की प्रक्रिया का पालन किया जायेगा. वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मुख्य मुद्दा मूल्य निर्धारण था, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी नहीं की थी क्योंकि यह उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं आया था.

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर विरोध प्रदर्शन के बाद लोकसभा स्थगित कर दी गई. लोकसभा में इस मुद्दे पर बोलते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने जनता को राजनीतिक लाभ के लिए गुमराह करने और देश की छवि को बदनाम करने की कोशिश की थी.

तीन न्यायाधीशीय खंडपीठ ने कहा कि वह खरीद प्रक्रिया से संतुष्ट हैं. सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि ऑफसेट पार्टनर की पसंद को लेकर हस्तक्षेप करने का कोई कारण नहीं है.

इससे पहले जस्टिस एस के कौल और के एम जोसेफ समेत पीठ ने 14 नवंबर को इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित कर दिया था. सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा  हैं, 'हम 126 एयरक्राफ्ट खरीदने के लिए सरकार को मजबूर नहीं कर सकते हैं और अदालत के लिए इस मामले के हर पहलू की जांच करना उचित नहीं है.

ये भी पढ़ें : राफेल को लेकर मीडिया पर मानहानि ठोकने वाले अनिल अंबानी ने SC के फैसले पर दी ये प्रतिक्रिया

 

First published: 14 December 2018, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी