Home » इंडिया » Rahul Gandhi: 3 yrs since the Demonetisation terror attack that devastated the Indian economy
 

'नोटबंदी के आतंकी हमले ने देश की अर्थव्यवस्था को किया बर्बाद' राहुल गांधी का हमला

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 November 2019, 12:24 IST

8 नवंबर 2016 को पीएम मोदी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नोटबंदी की घोषणा की थी. इसके साथ ही 500 और 1000 रुपये के नोट चलन से बाहर हो गए थे. इस घटना के तीन साल बाद कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को सबसे बड़ी आतंकी घटना बताया है.

राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, "यह नोटबंदी के आतंकी हमले का तीसरा साल है, इसने भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया, कई लोगों की जान ले ली, लाखों छोटे व्यवसायों को खत्म कर दिया और लाखों भारतीयों को बेरोजगार कर दिया. इस शातिर हमले के पीछे शामिल लोगों से न्याय मांगना बाकी है."

राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसा है. प्रियंका गांधी ने भी एक ट्वीट कर मोदी सरकार के दावे को धराशायी होने का आरोप लगाया. प्रियंका गांधी ने कहा कि नोटबंदी एक ‘आपदा' साबित हुई है. इसने देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया.

प्रियंका ने लिखा, “नोटबंदी को तीन साल हो गए हैं. मोदी सरकार और इनके नीम-हकीमों द्वारा किए गए नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज के सारे दावे एक-एक करके धराशायी हो गए. नोटबंदी एक आपदा साबित हुई जिसने हमारी अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया. इस तुगलकी कदम का जिम्मेदारी कौन है, अब इसकी जिम्मेदारी कौ लेगा?” 

महाराष्ट्र: CM पद से इस्तीफा दे सकते हैं देवेंद्र फडणवीस, लौटाएंगे सारी सरकारी सुविधाएं

PM मोदी को लिखा था डिवाइडर इन चीफ, लेखक का भारत सरकार ने रद्द किया OCI कार्ड

First published: 8 November 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी