Home » इंडिया » Rahul Gandhi attacks bjp after take charge of congress president at AICC HQ in Delhi, celebration by supporter
 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने पहले संबोधन में भाजपा पर लगाया गंभीर आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2017, 13:26 IST

राहुल गांधी ने शनिवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद संभाल लिया है. शनिवार को दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित एक समारोह में उनकी ताजपोशी हुई. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओंं को मौजूदगी में राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाया गया. राहुल की ताजपोशी के समय मंच पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और उनकी मां सोनिया गांधी मौजूद थीं.

राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष एम रामचंद्रन ने अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने का प्रमाण पत्र (सर्टिफिकेट) सौंपा. राहुल गांधी को 19 साल बाद कांग्रेस का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है. उनसे पहले इस पद पर उनकी मां सोनिया गांधी असीन थीं. वो 19 साल तक पार्टी की अध्यक्ष रहीं. उनके कार्यकाल में कांग्रेस ने दो बार केंद्र में यूपीए के तौर पर गठबंधन सरकार चलाई.

राहुल ने कांग्रेस का अध्यक्ष बनने के बाद अपने पहले संबोधन में कांग्रेस में अब तक का सबसे बड़ा हमला किया. उन्होंने भाजपा पर बंटवारे की राजनीति का आरोप लगाते हुए कहा, "आपके सामने उदाहरण है. जब एक बार आग लग जाती है, तो उसे बुझाना बेहद मुश्किल होता है. ये बात हम भाजपा के लोगों को बताना चाहते हैं. अगर आपने देश में एक बार आग लगा दी तो उसे बुझाना मुश्किल हो जाएगा. आज भाजपा देश में हिंसा की आग पूरे देश में फैला रही है."

राहुल गांधी ने अपने पहले संबोधन में पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि भाजपा जो कर रही है उसे कांग्रेस पार्टी का 'प्यारा कार्यकर्ता और नेता' रोक सकता है. हम कांग्रेस को ग्रेैंड ओल्ड और यंग पार्टी बनाएंगे. हम गुस्से की राजनीति से लड़ेंगे.

राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा के लोग हमारे भाई और बहन हैं. लेकिन हम उनसे सहमत नहीं हैं. भाजपा लोंगों की आवाज दबाने का काम कर रही है. लेकिन हम उन्हें बोलने देंगे. वो हमारा अपमान करेगें. हम उनका सम्मान करेंगे और उन्हें हराएंगे.

राहुल गांधी ने भाजपा के अलावा पीएम मोदी पर भी अपने पहले संबोधन में निशाना साधा. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी देश को आगे ले जाने की जगह पीछे ले जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश को21वीं सदी में लेकर आई और पीएम मोदी देश को मध्यकालीन युग में धकेल रहे हैं.

राहुल ने कहा कि राजनीति का संबंध लोगों से होता है, पर आज राजनीति का इस्तेमाल लोगों के लिए नहीं हो रहा है. आज राजनीति का इस्तेमाल लोगों को उठाने की जगह उन्हें खत्म करने के लिए किया जा रहा है.

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में 4 दिसंबर को पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा था. राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करते समय उनके साथ कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे. यूपीए के कार्यकाल के दौरान दस साल तक पीएम रहे मनमोहन सिंह, दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख नेता और राहुल के करीबी ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता इस मौके पर राहुल के साथ थे.

राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करने के अलावा कांग्रेस के किसी और नेता ने नामांकन नहीं दाखिल किया था. इसके बाद 11 दिसंबर को  राहुल गांधी को कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए निर्विरोध चुन लिए गया था. राहुल के पक्ष में 86 लोगों ने प्रस्ताव किया था. 

First published: 16 December 2017, 13:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी