Home » इंडिया » Catch Hindi: rahul gandhi close associate kanishka singh's brother got income tax notice in panama papers
 

पनामा पेपर्सः राहुल गांधी के नजदीकी कनिष्क सिंह के भाई को आयकर विभाग का नोटिस

सादिक़ नक़वी | Updated on: 10 June 2016, 7:57 IST
(कैच)

टैक्स हैवन के नाम से प्रसिद्ध पनामा की लॉ फर्म मोसेक फोंसेका से दस्तावेज लीक होने के बाद आयकर विभाग ने जिन भारतीयों को नोटिस भेजे हैं उनमें एक शशांक सिंह भी हैं. अमेरिका के हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए शशांक राहुल गांधी के निकट सहयोगी कनिष्क सिंह के भाई हैं.

खोजी पत्रकारों के अंतरराष्ट्रीय गठबंधन इंटरनेशनल कंसोर्सियम आफ इन्वेंस्टिगेटिव जर्ननिलस्ट्स (आईसीआईजे) ने इनके नाम उजागर किए थे. पनामा पेपर्स से पता चलता है कि शशांक का सम्बंध कम्पाला सर्विसेज लिमिटेड से है जो ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड में पंजीकृत है. 

पनामा पेपर्स का असली हीरो कौन है?

आईसीआईजे की वेबसाइट पर शशांक का पता मालाबार हिल दिया गया है. शशांक वर्तमान में अपेक्स पार्टनर्स के एक साझीदार है जो कंपनियों की ग्रोथ के लिए दीर्घकालीन निवेशक के रूप में वैश्विक अंतर्राष्ट्रीय पार्टनरशिप के रूप में जानी जाती है. शशांक कई अन्य कंपनियों जैसे श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस, जेनसर टैक्नालॉजीज, ग्रेटशिप (इंडिया) लिमिटेड और इम्पैक्ट फाउंडेशन से भी जुड़े हुए हैं.

मोसेक फोंसेका ट्रेल

आश्चर्य की बात तो यह है कि जिस अंग्रेजी अखबार का इंटरनेशनल कंसोर्सियम आफ इन्वेंस्टिगेटिव जर्ननिलस्ट्स से भारत में गठबंधन था, उसने अपनी रिपोर्ट में यह उल्लेख नहीं किया है कि शशांक का सम्बंध कनिष्क सिंह से है. 

शशांक ने अखबार को दिए गए अपने उत्तर में कहा है कि आपके सवाल उन शेयर के बारे में हैं जो वर्ष 2007 में एक विदेशी कम्पनी से जुड़े हैं. यह बात तब की है जब मैं भारत में नहीं रहता था और भारत के बाहर रहकर काम करता था. वह कंपनी कुछ साल पहले बंद हो गई. मैं कुछ साल पहले भारत लौट आया और अब मैं यहां रहने वाला आयकरदाता हूं. मैंने अपने सभी निवेश, सम्पत्तियों के ब्योरे, भारत और विदेशों से होने वाली आय सभी की जानकारी आयकर रिटर्न में दी हुई है और यहां मैं पूरा कर अदा कर रहा हूं.

पनामा पेपर्स से उपजे नौ सवाल और उनके जवाब

आईसीआईजे की वेबसाइट के अनुसार कम्पाला सर्विसेज वर्ष 2007 में निगमित हुई थी. नवम्बर 2014 से यह निष्क्रिय है. अखबार की खबर में सिंह को 16 जून 2008 तक शेयरहोल्डर बताया गया है जब इसके शेयर वोलाव काररपोरेट ट्रस्टी को हस्तांतरित किए गए. उधर, जांच एजेंसियों का यह भी कहना है कि शशांक के पास यूके की एक कम्पनी, 74 काल्टर्न हिल मैनेजमेंट के भी शेयर थे.

कनिष्क सिंह का सम्बंध

शशांक के भाई कनिष्क हाल में खबरों में उस समय आए जब भाजपा सांसद किरीट सौमेय्या ने आरोप लगाया कि अगस्टावेस्ट लैंड सौदे मामले में कथित बिचौलिया गुइदो हाश्के के साथ कनिष्क की भी जांच कराए जाने की जरूरत है.

सौमेय्या ने यह बात उस तथ्य पर कही थी जिसमें गुइदो हाश्के को श्रवण गुप्ता के मालिकाना वाली एमार एमजीएफ कंपनी में डायरेक्टर के रूप में नियुक्त किया गया था. श्रवण के सम्बंध सिंह परिवार से हैं. एमार एमजीएफ को कांग्रेस पार्टी का नजदीकी माना जाता है.

कनिष्क सिंह पनामा पेपर्स में शामिल कंपनी एमार एमजीएफ से सम्बंध होने से इनकार करते हैं

पनामा पेपर्स में दैनिक भास्कर और दैनिक जागरण समूह का नाम

हालांकि कनिष्क एमार से अपने किसी भी सम्बंध को होने से नकारते हैं. उनका कहना है कि राजीव गुप्ता के परिवार (एमार एमजीएफ) से उनके सम्बंध ठीक नहीं रह गए हैं. 

पनामा पेपर्स की सूची में दिल्ली का काका नगर, जो केन्द्र सरकार की पॉश कालोनी है और जहां देश के वरिष्ठ नौकरशाह रहते हैं, सभी का पता दिया गया है, पर इस बात को अभी तक नोटिस नहीं किया गया है.

इसके अलावा ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड में पंजीकृत एक कम्पनी सारसोटा ग्लोबल लिमिटेड जिसके शेयरहोल्डर में रवि माथुर का नाम है, का पता डी 11/148 काकानगर दिया गया है.

First published: 10 June 2016, 7:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी