Home » इंडिया » Rahul Gandhi Congrats to Amit Shah for him bank winning 1st prize in the conversion of old notes to new race
 

राहुल गांधी ने अमित शाह को 'नोटबंदी घोटाला' करने पर दी बधाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2018, 14:56 IST
(rahul gandhi twitter account)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर करारा तंज कसा है. राहुल गांधी ने आरटीआई के द्वारा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बैंक में नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा जमा हुए प्रतिबंधित 500 और 1000 रुपये के खुलासे को लेकर तंज कसा है

राहुल गांधी ने ट्वीट कर अमित शाह को बधाई के रूप में तंज करते हुए कहा, "बधाई अमित शाह जी, निदेशक, अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक.. आपका बैंक 5 दिनों में 750 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा कर पहला पुरस्कार जीता है. नोटबंदी कर आपकी सरकार ने लाखों भारतीयों के जीवन को बर्बाद करने की जो उपलब्धि कमाई है, उस उपलब्धि को सलाम"

दरअसल, सूचना के अधिकार यानि आरटीआई से खुलासा हुआ है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जिस बैंक के निदेशक रहे हैं वह नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा प्रतिबंधित 500 और 1000 रुपये के नोट जमा करने वाला जिला सहकारी बैंक है. बैंक की वेबसाइट के अनुसार, अमित शाह उस समय बैंक में निदेशक पद पर थे. वह साल 2000 में बैंक के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. 

मुंबई के एक आरटीआई कार्यकर्ता को यह जानकारी प्राप्त हुई है. जानकारी के अनुसार, अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसीबी) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा करने के महज पांच दिन के भीतर 745.59 करोड़ रुपये मूल्य के प्रतिबंधित नोट जमा किये थे.

आरटीआई के अनुसार, एडीसीबी के पास 31 मार्च 2017 को कुल 5,050 करोड़ रुपये जमा थे और वित्त वर्ष 2017-18 में बैंक का शुद्ध मुनाफा 14.31 करोड़ रहा था.
 
 
इसे लेकर कांग्रेस ने अमित शाह पर करारा हमला बोला है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवावा ने कहा है कि नोटबंदी में बड़ा घोटाला हुआ है. इसके सबूत सामने आ रहे हैं. नोटबंदी के दौरान देश के को-ऑपरेटिव बैंकों में नोटबंदी के दौरान जो 500 और 1000 रुपये के नोट जमा हुए हैं.

सूरजेवाला ने कहा कि उसमें अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक में पहले पांच दिनो में करीब 745 करोड़ रुपयेे जमा हुए. इस बैंक में कई भाजपा नेताओं के नाम आ रहे हैं. ये वो नेता हैं जो अमित शाह के करीबी हैं. ये सब किसी ना किसी तौर पर बैंक से जुड़े हुए हैं.

First published: 22 June 2018, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी