Home » इंडिया » rahul gandhi is my boss now said former congress president sonia gandhi in congress parliamentary party meeting
 

'कांग्रेस के साथ-साथ अब सोनिया गांधी पर भी चलती है राहुल की हुकूमत'

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2018, 13:16 IST

एक दौर था जब कांग्रेस पार्टी में सिर्फ सोनिया गांधी की ही तूती बोलती थी, लेकिन अब कांग्रेस ही नहीं बल्कि सोनिया गांधी पर भी वर्तमान कांग्रेसी अध्यक्ष राहुल गांधी की हुकूमत चलती है. ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि यह खुद पूर्व कांग्रेसी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है. कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष एवं वरिष्‍‍ठ नेता सोनिया गांधी ने पार्टी की संसदीय दल की बैठक में राहुल गांधी को अपना बॉस बताया है.

सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को साफ कर दिया है कि पार्टी प्रमुख अब राहुल गांधी है. उन्होंने कहा, ''हमारे पास नए कांग्रेस अध्यक्ष हैं और मैं आपकी व खुद अपनी ओर से उन्हें शुभकामनाएं देती हूं.'' इसी दौरान सोनिया ने कहा, ''राहुल गांधी अब मेरे भी बॉस हैं. इस बारे में किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए.'' सोनिया गांधी ने कहा कि हम सब एक होकर पार्टी की बेहतरी के लिए राहुल गांधी के साथ काम करेंगे.

सोनिया गांधी ने कहा कि इसकी शुरुआत हो गई है. उन्होंने कहा कि गुजरात में हमने कठिन परिस्थितियों में काफी अच्छा परिणाम दिया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान के उपचुनाव में भी हमने जो परिणाम दिए हैं वह काफी उत्साहवर्धक हैं. उन्होंने कहा, "ये नतीजे बताते हैं कि हवा बदल रही है. मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि कर्नाटक में भी कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहेगा.''

 

संसदीय दल की बैठक के दौरान पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार 'अधिकतम पब्लिसिटी, न्यूनतम सरकार' और 'अधिकतम मार्केटिंग, न्यूनतम डिलिवरी' के तौर पर काम कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि लोकतंत्र के तमाम संस्थानों पर जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- Video: पीएम मोदी के मंत्री ने 'सूर्पणखा' से की रेणुका चौधरी की तुलना

सोनिया ने यह भी आरोप लगाया कि सरकार राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को टारगेट करने के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है. उन्होंने कहा, ''इस सरकार को सत्ता में आए हुए करीब चार साल हो चुके हैं. इस दौरान संसद, न्यायपालिका, मीडिया और सिविल सोसाइटी समेत कई लोकतांत्रिक संस्थानों को निशाना बनाया गया.''

पूर्व कांग्रेसी अध्यक्ष ने कहा, ''दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा की छिटपुट वारदातें नहीं हो रही हैं बल्कि जानबूझकर संकीर्ण राजनीतिक लाभ के लिए समाज में ध्रुवीकरण की कोशिश हो रही है.''

दरअसल पार्टी की संसदीय दल की बैठक में उन्होंने अपनी भूमिका को लेकर तमाम शंकाओं और अफवाहों पर पूर्ण विराम लगाने की कोशिश की. राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी की कमान सौंपने के बाद सोनिया गांधी ने राजनीति से रिटायरमेंट का ऐलान किया था. लेकिन कांग्रेस पार्टी की ओर से कहा गया था कि सोनिया गांधी सिर्फ अध्यक्ष पद से रिटायर हुई हैं, राजनीति से नहीं.

First published: 8 February 2018, 13:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी