Home » इंडिया » Rahul Gandhi on Alwar Lynching: Modi brutal New India humanity is replaced with hatred
 

लिचिंग पर बोले राहुल गांधी- मोदी के क्रूर 'न्यू इंडिया' में इंसान को मरने के लिए छोड़ दिया जाता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2018, 13:08 IST

अलवर में शुक्रवार की रात गो-तस्करी के शक में रकबर नाम के युवक की हत्या कर दी गई. रकबर की हत्या पर राजस्थान पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं. इसके बाद देशभर में बवाल मच गया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रकबर मामले को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है. राहुल ने कहा है कि पीएम मोदी के नए भारत में मानवता की जगह नफरत ने ले ली है.

राहुल गांधी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोला है. राहुल ने ट्वीट किया, "राजस्थान पुलिस ने रकबर खान को 6 किमी दूर अस्पताल पहुंचाने में तीन घंटे लगा दिए. क्यों? क्योंकि वह चाय-पानी कर रहे थे."

इसके आगे राहुल ने लिखा, "पीएम मोदी के क्रूर न्यू इंडिया में मानवता की जगह नफरत ने ले ली है जहां आम आदमी को पीट-पीटकर मरने के लिए छोड़ दिया जाता है."

इससे पहले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाया था. ओवैसी ने कहा था कि रकबर की हत्या राजस्थान पुलिस और गो-रक्षकों की मिलीभगत से हुई है. उन्होंने कहा था कि पुलिस की कार्रवाई पर मुझे जरा भी आश्चर्य नहीं हो रहा है. पिछले साल पहलू खान की हत्या पर भी पुलिस की भूमिका ऐसी ही थी. राजस्थान की पुलिस गो-रक्षकों को बढ़ावा देती है.

बता दें कि 

गो-तस्करी के शक में कथित गोरक्षकों ने शुुक्रवार की रात रकबर और असलम की पिटाई कर दी थी. इस दौरान असलम भाग निकला था, लेकिन रकबर को भीड़ पीटती रही थी. इस मामले में अब पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं. आरोप है कि पुलिस रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गाय के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी.

पढ़ें- अलवर लिंचिंग: रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गायों के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी पुलिस !

आरोप है कि पुलिस मौके पर पहुंची तो जरूर, लेकिन रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय ढाई घंटे से ज़्यादा समय तक यहां-वहां घुमाती रही. इसके बाद उसे थाने ले गई. इस मामले में कुछ सनसनीखेज खुलासे सामने आए हैं. पता चला है कि रकबर भीड़ के हाथों जितना घायल नहीं हुआ उससे ज़्यादा वो पुलिस की हिरासत में हुआ और यही उसकी जान जाने की वजह बनी.

First published: 23 July 2018, 13:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी