Home » इंडिया » rahul gandhi told in SC, i'm clear on sangh statement, there is no change in my stand
 

राहुल गांधी ने कहा- संघ पर दिए बयान पर कायम, मुकदमे का करूंगा सामना

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2016, 17:31 IST
(कैच)

महात्मा गांधी की हत्या पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खिलाफ दिए राहुल गांधी के बयान के मामले में नया मोड़ आ गया है. आपराधिक मानहानि के इस केस में पेशी से छूट की याचिका राहुल गांधी ने वापस ले ली है. राहुल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि राहुल गांधी संघ पर दिए अपने बयान पर आज भी कायम हैं और इस इस मामले में किसी भी तरह का ट्रायल फेस करने को तैयार हैं.

राहुल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि वह संघ वाले अपने बयान पर कायम हैं, थे और रहेंगे. राहुल ने कहा था कि संघ के लोगों ने महात्मा गांधी को गोली मारी. राहुल ने कहा है कि वह इस बयान पर अटल हैं और वह अपना बयान वापस नहीं लेंगे. वह इस मामले में भिवंडी कोर्ट में मानहानि का मुकदमा लड़ते रहेंगे.

16 नवंबर को भिवंडी कोर्ट में पेशी

सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को पेशी में छूट देने से इनकार कर दिया था. अब 16 नवंबर को राहुल को मुंबई के भिवंडी की कोर्ट में पेश होना होगा.

वहीं दूसरी ओर इस मामले में याचिकाकर्ता राजेश कुंटे का कहना है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी केवल यह कह दें कि उनका मकसद बयान में संघ को दोषी ठहराना नहीं था, तो वह अपना केस वापस लेने को तैयार हैं.

मार्च 2014 में दिया था बयान

शिकायकर्ता राजेश कुंटे की ओर से कोर्ट में कहा गया कि संघ की छवि को पिछले 60 सालों से बिगाड़ने की कोशिश हो रही है. जब भी चुनाव होते हैं या विशेष वर्ग के साथ कुछ होता है तो ऐसे बयान दिए जाते हैं.

वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि राजनीतिक बयान कोर्ट में नहीं दिए जाने चाहिए. गौरतलब है कि 2014 में महात्मा गांधी की हत्या का आरोप कथित रूप से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लगाने के संबंध में राहुल के खिलाफ मानहानि का यह मामला दाखिल किया गया था.

संघ की भिवंडी इकाई के सचिव राजेश कुंटे ने आरोप लगाया था कि राहुल ने सोनाले में 6 मार्च 2014 को एक चुनावी रैली में कहा था कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने गांधी जी की हत्या की. कुंटे ने कहा कि कांग्रेस के नेता ने अपने भाषण के जरिए संघ की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने की कोशिश की.

First published: 1 September 2016, 17:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी