Home » इंडिया » Rahul gandi joins candle light march at midnight in India gate over kathua and unnao gang rape case
 

राहुल का मिडनाइट मार्च, प्रियंका गांधी और निर्भया के माता-पिता भी शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 15:03 IST

उन्नाव और कठुआ में हुए गैंग रेप के खिलाफ राहुल गांधी के नेतृत्व में मार्च निकाला जा रहा है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष  राहुल गाधी मार्च में हिस्सा लेने के लिए इंडिया गेट पहुंच गए हैं. गौरतलब है कि यूपी के उन्नाव में हुए गैंग रेप में अब तक भाजपा विधायक की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है, जो इस मामले में मुख्य आरोपी है.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक आठ साल की मासूम के साथ गैंगरेप के मामले में भी आरोपियों के पक्ष में विरोध प्रदर्शन किया जा गया. जबकि क्राइम ब्रांच की चार्जशीट में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. इस चार्जशीट में मासूम को बंधक बनाकर मंदिर में रेप करने के आरोप लगे हैं. इतना ही नहीं एक पुलिसवाले पर भी बच्ची के रेप का आरोप है. इन दोनों मामलों में सरकार के सख्त रवैये ना अपनाने और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर ये मार्च निकला जा रहा है. इस समय इंडिया गेट में काफी लोग मोजूद हैं.

राहुल गांधी के आह्वान पर बुलाए गए इस मार्च में उनकी बहन प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा भी मौजूद हैं. इन दोनों के अलावा कांग्रसे के वरिष्ठ नेता भी मार्च भी मौजूद हैं. इस कैंडिल मार्च में  गुलाम नबी आजाद, सलमान खुर्शीद, अहमद पटेल और अशोक गहलोत भी मौजूद हैं. इनके अलावा सैकड़ों कांग्रेस के कार्यकर्ता भी वहां मौजूद हैं.

गौरतलब है कि  राहुल गांधी ने गुरुवार शाम को ट्वीट किया कि करोड़ों भारतीयों की तरह आज मेरा मन भी दुखी है. भारत में महिलाओं के साथ जो व्यवहार हो रहा है उसे सहन नहीं किया जा सकता. इस हिंसा के ख़िलाफ़ और इंसाफ़ की मांग के लिए आज रात को इंडिया पर मेरे साथ मौन, शांतिपूर्ण कैंडल मार्च में शामिल हों.

इसके पहले राहुल गांधी ने एक और ट्वीट किया, ‘‘उन्हें (अपराधियों को) सजा दिए बिना नहीं छोड़ना चाहिए. कठूआ में मासूम के साथ हुआ अपराध मानवता के खिलाफ हैं. इस तरह का पाप करने वाले दोषियों का कोई कैसे संरक्षण कर सकता है. हम लोग क्या हो गए हैं कि एक बेकसूर बच्ची से की गई ऐसी अकल्पनीय नृशंसता में हम राजनीतिक दखलंदाजी की इजाजत देंगे."

 

गौरतलब है कि इन दोनों केसों में सख्त कार्रवाई को ना होने को लेकर भाजपा सरकार केंद्र के निशाने पर हैं. हालांकि उन्नाव केस की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. पीएम मोदी की चुप्पी को लेकर कांग्रेस सवाल उठा रही है. वहीं पीएम मोदी के बजट सत्र ना चलने देने को लेकर भाजपा ने एक दिन का उपवास रखा. 

First published: 13 April 2018, 0:38 IST
 
अगली कहानी