Home » इंडिया » Rail passengers Alert this gang active in trains and this coach always targeted
 

अगर आप भी करने जा रहे हैं AC कोच में सफर तो हो जाएं सावधान, चौंकाने वाली है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2019, 17:10 IST

अक्सर हम ट्रेन में सबसे सुविधा वाले कोच यानी की एसी कोच में अपना रिजर्वेशन कराते हैं और हम सोचते है कि एसी कोच में तो कोई गड़बड़ हो ही नहीं सकती लेकिन जब आप इस खबर को पढ़ लेंगे तो आपका ये वहम दूर हो जाएगा. ट्रेन में आजकल सफर करना उतना ही मुश्किल होता जा रहा है जैसे पहले के जमाने में डाकुओं से बचना होता था. ट्रेन में सफर कर रहे लगभग यात्री ये सोचते हैं कि जनरल और स्लीपर में कुछ भी हो सकता है लेकिन एसी कोच में सभी तरह से हम सुरक्षित है लेकिन ऐसा अब बिल्कुल भी नहीं है. बता दें कि हाल ही में छत्तीसगढ़ के रायपुर में एसी कोच में ऐसी घटना हुई है जिसे सुनकर आपके पैरों तले से जमीन खिसक जाएगी.

 

बता दें कि इन दिनों ट्रेनों में एक ऐसा गिरोह एक्टिव है जो कि एसी कोच में सफर कर रहे लोगों को अपना शिकार बनाता है और उनके पास मौजूद सभी धन-जेवर और कीमती सामान लूट लेता है. पिछले दस दिनों में ये घटना भिलाई और रायपुर स्टेशन के बीच हुई है लेकिन रेलवे पुलिस के हाथ दोनों ही घटनाओं में खाली हैं. ऐसी वारदातों से बचने के लिए अब यात्रियों के लिए एनाउंसमेंट की जा रही है ताकि सभी अलर्ट रहे.

आपको मालामाल बना सकता है एक मामूली सा काला धागा, बस करना होगा ये काम

रेलवे यात्री सुरक्षा और संरक्षा को पहली प्राथमिकता मानकर चल रहा है. जिसमें गिरोह ने सेंध लगाकर कड़ी चुनौती दी है. हालांकि रेलवे स्टेशन पर एनाउंसमेंट से लगातार जहरखुरानी और चोरी की घटनाओं को लेकर किसी परिचित यात्री से दोस्ती कर चाय, बिस्किट आदि नहीं खाने तथा ट्रेन से उतरने के दौरान बैग, सूटकेस, ट्राली बैग उतरवाने में मदद करने वाले गिरोह यात्रियों से अलर्ट रहने जैसा अभियान चलाया है. लगेज उतारने और बाहर निकालने में कुलियों की मदद लेने पर जोर दिया जा रहा है. इसके बावजूद गिरोह के झांसे में आने से यात्री बच नहीं पा रहे हैं.

गिरोह टिकट लेकर करता है सफर-

रेलवे पुलिस की जांच के अनुसार ये गिरोह हरियाणा से चलता है और पेपर गिरोह झारसुगुड़ा-रांची से और दोनों ही गिरोह रिजर्वेशन टिकट लेकर सफर करते हैं. जिससे टीटी भी इन्हें पकड़ नहीं पाता. फिर ये गिरोह ट्रेन में चढ़ रहे या उतर रहे यात्रियों का सामान उतारकर या उनकी किसी तरह की मदद कर उनका भरोसा जीत लेता है. इस गिरोह में करीब 3 से 4 लोग होते है और जो कि अखबार की आड़ में सूटकेस और ट्राली बैग से चोरी करते है.

पिछले 10 दिनों में हुई ये दो घटनाएं-

  • चार दिन पहले समता एक्सप्रेस के सेकेंड एसी कोच में पत्नी के साथ सफर कर रहे यात्री इस गिरोह का शिकार हुआ. ट्रेनों में सक्रिय गिरोह ने यात्री से दोस्ती की और ट्राली बैग बाथरूम की तरफ रख दिया. फिर मौका पाकर चेन काटकर सोने के जेवर पर हाथ साफ कर दिया. इसकी भनक तक यात्री को नहीं लगी.
  • पिछले सप्ताह एलटीटी-हावड़ा एक्सप्रेस के एसी कोच में मां के साथ सफर कर रही एक महिला यात्री इसी तरह चोरों का शिकार हुई. दोनों घटनाएं भिलाई और रायपुर स्टेशन के बीच अंजाम दी गई. महिला यात्री के बैग से सोने के जेवर पार कर दिए. इन दोनों मामले की रिपोर्ट पीडि़त यात्रियों ने जीआरपी थाने में दर्ज कराई.   

 आपको मालामाल बना सकता है एक मामूली सा काला धागा, बस करना होगा ये काम

First published: 10 February 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी