Home » इंडिया » Railway made new record by constructing 6 under-bridge in just 5 hours
 

लेटलतीफी के लिए मशहूर रेलवे ने बनाया नया रिकॉर्ड, 5 घंटे में बनाए 6 अंडरब्रिज

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2018, 11:15 IST

हमेशा देरी के लिए मशहूर भारतीय रेलवे ने आलोचना करने वालों को करारा जवाब दिया है. लेटलतीफी के लिए जानी जाने वाली रेलवे ने एक ऐसा उदाहरण पेश किया है जिस पर भरोसा करना मुमकिन नहीं है. मानवरहित क्रासिंग पर होने वाले हादसों को रोकने के लिए रेलवे ने ये कदम उठाया है. इन्ही हादसों को रोकने के लिए पूर्व तटीय रेलवे ने ओडिशा में केवल 5 घंटों में ही 6 अंडरब्रिज बना कर तैयार कर दिए. इतने कम समय में 6अंडरब्रिज बनाने की उम्मीद रेलवे से नहीं की गयी थी कभी.

ये भी पढ़ें- बायो टॉयलेट: 'शिट फ्री' रेलवे की यह तकनीक कैसे काम करती है

संबलपुर के मंडल रेल प्रबंधक डॉ. जयदीप गुप्ता ने कहा, ''ओडिशा के संबलपुर में रेलवे ने 6 मध्यम ऊंचाई के अंडरब्रिज का निर्माण कर इस बीच आने वाले सभी मानव रहित क्रासिंग को खत्म कर दिया है. गुरुवार को संबलपुर मंडल में एक साथ 6 अंडरब्रिज का काम शुरू किया गया और महज साढ़े 4 घंटे में सभी उन्हें तैयार कर लिया गया.'

ओडिशा के इस इलाके में रेलवे के इस सुपरफास्ट काम की वजह से भवानीपटना-लांजीगढ़ रोड सेक्शन में 7 मानव रहित क्रासिंग पूरी तरह बंद हो जाएंगे. मंडल रेल प्रबंधक गुप्ता ने कहा, ''रेलवे का यह कदम इंडियन रेलवे के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा.''

ये भी पढ़ें- भारतीय रेलवे का नेत्रहीन कर्मचारियों को धोखा

 

उन्होंने कहा कि रेलवे ने 5 घंटे में 6 अंडरब्रिज बनाने का पहली बार किया है. उन्होंने कहा की इस काम को करने में कई अड़चने सामने आई जिसमे सबसे बड़ी अड़चन मौसम थी लेकिन हमारे कामगारों की मेहनत ने इस काम को सफलता से पूरा किया. इस काम को 300 कामगारों ने मिल कर पूरा किया.

इस काम में 20 एक्सवेटर्स और 12 क्रेनों की मदद ली गई. बता दें कि पूर्व तटीय रेलवे ने अंडरब्रिज का काम शुरू करने से पहले 7 कंक्रीट के 4.15 मीटर ऊंचे बॉक्स जैसे ढांचों को तैयार करवाया. 6 अंडरब्रिज को तैयार करने में कुल 42 ऐसे बॉक्स का इस्तेमाल किया गया.

First published: 7 July 2018, 11:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी