Home » इंडिया » Railway's new policy is ready - the station can go to Shitalatha free
 

रेलवे की नई नीति तैयार- स्टेशनों पर शैचालय जाना हो सकता है मुफ्त

न्यूज एजेंसी | Updated on: 12 February 2018, 17:11 IST

रेलवे बोर्ड के एक नये प्रस्ताव के अनुसार छोटे रेलवे स्टेशनों पर शौचालय का इस्तेमाल करना जल्द ही सस्ता और यहां तक कि छोटे स्टेशनों पर यह मुफ्त हो सकता है. वर्तमान समय में सशुल्क शौचालय नीति ऐसे शौचालयों का निर्माण करने वाले ठेकेदारों को उसके इस्तेमाल की दर तय करने की इजाजत देती है, हालांकि यह बाजार कीमत पर होती है.

नयी नीति के अनुसार मंडल रेल प्रबंधकों को इसका अधिकार दिया गया है कि वे यह निर्णय करें कि वे इन शौचालयों को जनता के इस्तेमाल के लिए सशुल्क रखना चाहते हैं या मुफ्त रखना चाहते हैं. गत दो फरवरी को बोर्ड की बैठक के बाद रेलवे बोर्ड का सात फरवरी की तिथि वाला एक पत्र सभी जोनल रेलवे को भेजा गया है.

इसमें कहा गया है, ‘‘सभी डीआरएम को इसका अधिकार दिया गया है कि वे स्थान विशिष्ट मूल्यांकन करे और इसका निर्णय करें कि सशुल्क शौचालय को एक कमाई वाले ठेके के तौर पर लिया जाए या एक सेवा वाले ठेके के तौर पर.’’

 

सेवा ठेके में शौचालय मुफ्त होगा या इस्तेमालकर्ता से ना\Rम मात्र का शुल्क लिया जाएगा. रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने पीटीआई को बताया कि सशुल्क शौचालय नीति की समीक्षा की जरूरत तब महसूस हुई जब यह रिपोर्ट आयी कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत पर्याप्त संख्या में शौचालयों का निर्माण नहीं हो रहा है और छोटे ग्रामीण रेलवे स्टेशनों पर लोग इन शौचालयों का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं.

First published: 12 February 2018, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी