Home » इंडिया » Railways cuts down sleeping time in trains by an hour to end fights among passengers.
 

रेलवे के फरमान से पड़ेगा यात्रियों की नींद में खलल...

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2017, 10:53 IST

भारतीय रेलवे ने ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक नया फरमान सुनाया है. इस नए फरमान से रेलवे में सफर करने वाले लोगों की नींद उड़ सकती है. 

भारतीय रेलवे ने अब ट्रेन में सोने के ऑफिशियल टाइम में बदलाव कर दिया है. अब रिजर्व बोगियों में सफर करने वाले यात्री सिर्फ 8 घंटे ही सो पाएंगे. रेलवे के पुराने नियमों के मुताबिक यात्री 10 घंटे तक सो सकते थे. 

रेलवे बोर्ड की ओर से जारी सर्कुलर के मुताबिक, रिजर्व कोच में सफर करने वाले यात्री अब रात 10 बजे से लेकर सुबह छह बजे तक ही सो सकते हैं.  इससे पहले सोने का ऑफिशियल समय रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक था.

रेलवे ने ये नियम लोगों की शिकायतों के बाद उठाए हैं. दरअसल रेल में सफर करने के दौरान सोने को लेकर कई बार यात्रियों की अनबन होती है.

31 अगस्त को जारी सर्कुलर में कुछ यात्रियों को इसमें छूट दी गई है. लोगों से बीमार, दिव्यांग और गर्भवती महिला यात्रियों के मामले में सहयोग करने को कहा गया है.

रेलवे मंत्रालय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा, “हमें सोने को लेकर यात्रियों की परेशानी के बारे में अधिकारियों से फीडबैक मिला था. हमारे पास पहले ही इसके लिए एक नियम है. हालांकि हम इसे स्पष्ट कर देना चाहते थे और सुनिश्चित करना चाहते थे कि इसका पालन हो.”

उन्होंने कहा कि यह प्रावधान शयन सुविधा वाले सभी आरक्षित कोचों में लागू होगा. इस नए निर्देश से ट्रैवलिंग टिकट एग्जामिनर (टीटीई) को भी अनुमति वाले समय से अधिक सोने से संबंधित विवादों को सुलझाने में आसानी होगी.

First published: 18 September 2017, 10:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी