Home » इंडिया » BJP leader Gyan Dev Ahuja left BJP after disputes over ticket distribution
 

राजस्थान चुनाव: BJP को झटका, हिंदुत्व की पैरवी करने वाले इस नेता ने छोड़ा भाजपा का हाथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 November 2018, 10:58 IST

राजस्थान चुनावों से पहले भारतीय जानता पार्टी के एक हिंदूवादी नेता ने पार्टी का साथ छोड़ दिया हैं. भाजपा से टिकट न मिलने पर नाराज ज्ञानदेव आहूजा ने रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इस्तीफा देने के साथ ही उन्होंने ये भी घोषणा की है कि वह अब जयपुर के सांगानेर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे.

बीजेपी के लिए हमेशा हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर चुनाव लड़ने वाले आहूजा अपने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में सांगानेर विधानसभा से अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. अपने नामांकन और भाजपा से इस्तीफे के बारे में आहूजा ने बताया कि उन्होंने अपना त्यागपत्र भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी को भेज दिया है. पार्टी छोड़ने की वजह बताते हुए उन्होंने कहा, ''पार्टी ने बिना मुझे विश्वास में लिये मेरा टिकट काट दिया. मुझे टिकट काटने के बारे में कोई कारण नहीं बताया गया. अपने समर्थकों और परिजनों के दबाव में मैंने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया और अब सांगानेर विधानसभा सीट पर चुनाव लडूंगा.''

गौरतलब है कि 2013 के विधानसभा चुनाव में सांगानेर से घनश्याम तिवाड़ी की जीत हुई थी. उस समय भी तिवाड़ी ने मुख्यमंत्री के साथ तनाव के कारण पार्टी छोड़ कर अपनी नई पार्टी का गठन किया था. उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी द्वारा अलवर के रामगढ़ से अन्य उम्मीदवार को टिकट दिये जाने के बाद मैंने जयपुर के सांगानेर से टिकट मांगा था लेकिन पार्टी ने मेरी मांग नहीं मानी, इसलिये मैंने सांगानेर से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने का निर्णय किया है.''

वहीं पार्टी छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ने को तैयार आहूजा ने कहा कि वह ये चुनाव गौरक्षा, राम मंदिर निर्माण और हिंदुत्व के मुद्दों पर लड़ेंगे.

First published: 19 November 2018, 10:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी