Home » इंडिया » Rajasthan: Hanuman Beniwal quit NDA against new agriculture bill, resigns from parliament membership
 

नए कृषि बिल के विरोध में राजस्थान के सहयोगी ने BJP का छोड़ा साथ, किसानों के साथ दिल्ली कूच

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2020, 20:16 IST

Farmers Protest: तीन नए कृषि कानून के विरोध में राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी हनुमान बेनीवाल ने एनडीए छोड़ दी है. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक तथा नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने किसान आंदोलन के समर्थन में आज एनडीए से अलग होने का फैसला किया.

उन्होंने राजस्थान के अलवर जिले में शाहजहांपुर-खेड़ा सीमा पर किसान आंदोलनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हम उनके साथ नहीं खड़े होंगे, जो किसानों के खिलाफ हैं. बता दें कि हनुमान बेनीवाल ने 19 दिसंबर को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था कि 26 दिसंबर को वह दो लाख किसानों के साथ दिल्ली कूच करेंगे. उन्होंने तभी कहा था कि एनडीए में बने रहने या छोड़ने के बारे में भी फैसला उसी दिन होगा. 

हनुमान बेनीवाल ने 19 दिसंबर को संसद की तीन समितियों के सदस्य पद से त्यागपत्र दे दिया था. उन्होंने अपना त्यागपत्र लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को भेजा था. अपने त्याग पत्र में उन्होंने संसद की उद्योग संबंधी स्थायी समिति, याचिका समिति तथा पेट्रोलियम व गैस मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति से इस्तीफा देने की  बात की थी.

2018 के राज्य विधानसभा चुनाव से पहले हनुमान बेनीवाल ने भारतीय जनता पार्टी छोड़ने के बाद राजस्थान में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी यानि आरएलपी की स्थापना की थी. इसके बाद पार्टी ने साल 2019 के आम चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन किया था. हालांकि अब कृषि कानूनों का विरोध किया और किसानों के आंदोलन को समर्थन दिया.

बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध में RLP एनडीए छोड़ने वाला दूसरा सदस्य है. इससे पहले सितंबर महीने में अकाली दल ने कृषि कानूनों के खिलाफ एनडीए से खुद को अलग कर लिया था.

JDU के 6 विधायकों को BJP ने अपनी पार्टी में किया शामिल, तो नीतीश की तरफ से आई ये प्रतिक्रिया

PM मोदी ने जम्मू-कश्मीर में किया आयुष्मान भारत PM-JAY सेहत योजना का शुभारंभ, पढ़िए पूरा स्पीच

First published: 26 December 2020, 19:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी