Home » इंडिया » rajasthan: in 8th standard book nehru chapter erased from textbook
 

वसुंधरा सरकार ने आठवीं क्लास की किताब से नेहरू का पाठ निकाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

राजस्थान में बीजेपी की वसुंधरा राजे सरकार ने आठवीं कक्षा के सामाजिक विज्ञान की पुस्तक में पहले से पढ़ाए जा रहे देश के पहले प्रधानमंत्री पं जवाहर लाल नेहरू का खंड बाहर कर दिया है.

प्रदेश सरकार के अधीन शिक्षा विभाग के द्वारा गठित राज्य पाठ्यपुस्तक मंडल ने इतना भी नहीं सोचा की आठवीं के बच्चों को कम से कम देश के प्रथम प्रधानमंत्री के बारे में जानकारी मिले, लेकिन इसके उलट पुस्तक में इस बात का जिक्र ही नहीं है कि भारत के पहले प्रधानमंत्री कौन थे.

हालांकि सरकार के प्रकाशन और वितरण विभाग के द्वारा यह पुस्तक अभी तक बाजार में बिक्री के लिए उतारी नहीं गई है.

पढ़ें: रॉबर्ट वाड्रा लैंड डील: ईडी की राजस्थान में छापेमारी

लेकिन राजस्थान राज्य पाठ्यपुस्तक मंडल की वेबसाइड पर अपलोड की गई पुस्तक की प्रति में महात्मा गांधी, सुभाष चन्द्र बोस, वीर सावरकर, भगत सिंह, लाला लाजपत राय और बाल गंगाधर तिलक जैसे बड़े नेताओं का नाम है, वहीं नेहरू सहित कांग्रेस के अन्य बड़े नेताओं के नाम पुस्तक से हटा दिए गए हैं. 

प्रदेश सरकार के शिक्षा विभाग की ओर से यह पुस्तक पाठ्यक्रम नवीनीकरण के नाम पर दुबारे लिखी गई है और इसे राजस्थान बोर्ड की कक्षा आठ में सामाजिक विज्ञान के नाम पर पढ़ाई जाएगी.

किताब के पुराने संस्करण में राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन के अध्याय में पं नेहरू के योगदान को मुख्य तौर पर बताया गया था.

पढ़ें: राजस्थान में शुरू होगा 'मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान'

नए संस्करण की पुस्तक में स्वतंत्रता आंदोलन के नवीन अध्याय में पं नेहरू, सरोजनी नायडू, मदन मोहन मालवीय जैसे नेताओं का कोई उल्लेख नहीं है.

पुस्तक में आजादी के बाद के भारत पर अधारित अध्याय में राजेन्द्र प्रसाद के भारत के पहले राष्ट्रपति के तौर पर और सरदार पटेल का भारत को एक करने के लिए दिए गए योगदान का जिक्र है लेकिन नेहरू के विषय में कुछ नहीं लिखा गया है.

First published: 8 May 2016, 3:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी