Home » इंडिया » Rajasthan: Vasundhara govt introduces 20% liquor surcharge for cow protection
 

राजस्थान में अब 'शराबी' करेंगे गौरक्षा, वसुंधरा सरकार ने गौ-संरक्षण के लिए लगाया 20% सरचार्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2018, 15:49 IST

राजस्थान मेें अब शराबी गौ-रक्षा करेंगे. दरअसल, राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने राज्य में गौ संरक्षण और संवर्धन के लिए सभी प्रकार की शराब पर 20 प्रतिशत सरचार्ज लगा दिया है. सरकार की ओर से इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है.

हालांकि सरकार की ओर से जारी अधिसूचना में शराब पर लगाए गए 20 प्रतिशत सरचार्ज के कारणों का उल्लेख नहीं किया गया है, लेकिन वित्त एवं कर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गौ संरक्षण और संवर्धन के लिए सरचार्ज लगाये जाने की पुष्टि कर दी है.

बता दें कि पिछले हफ्ते ही राजस्थान सरकार ने इस प्रक्रिया को सैद्धांतिक मंजूरी दी थी. इसके बाद ही माना जा रहा था कि इस साल वैट के नियमों मे बदलाव करके शराब पर सरचार्ज को लागू कर दिया जाएगा. पिछले वर्ष अप्रैल में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सभी प्रकार की गैर न्यायायिक स्टांप पत्र जैसे किरायेनामे, गिरवी और लीज एग्रीमेंट के स्टांप्स पर 10 प्रतिशत सरचार्ज लगाया था.

राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (वित्त एवं कर) मुकेश कुमार शर्मा ने इस बाबत जानकारी देते हुए बताया कि शराब पर सरचार्ज गौ सरंक्षण और संवर्धन के लिए लगाया गया है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में पंजीकृत शराब डीलर्स द्वारा बेची जाने वाली सभी प्रकार की विदेशी शराब, भारत में निर्मित विदेशी शराब, देशी शराब और बीयर पर 23 जुलाई 2018 से वैट (वैल्यू एडड टेक्स) के तहत 20 प्रतिशत सरचार्ज लिया जायेगा.

मुख्य सचिव ने बताया कि पिछले दो वित्तीय वर्ष में सरकार ने गौ संक्षरण और संवर्धन के लिए स्टांप ड्यूटी पर लगाए गए 10 प्रतिशत सरचार्ज से 895 करोड रुपये की आय अर्जित की है. गौ संरक्षण और संवर्धन फंड नियम 2016 के प्रस्ताव के तहत सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 में 132.68 करोड रुपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई है.

पढ़ें- बाबा रामदेव को तगड़ा झटका, BSF ने जग्गी वासुदेव के साथ किया योग का करार

उन्होंने बताया कि यह फंड प्रदेश की 1160 गौशालाओं में चारे और पानी के लिए दिए गए. इसी तरह से वित्तीय वर्ष 2017-18 में सरकार ने 1603 गौशालाओं के लिए 123.07 करोड रुपये खर्च किए हैं. सरचार्ज लगाने से पूर्व वर्ष 2015-16 में सरकार ने तस्करी और गौ वध से बचाई गई 4 हजार 449 गौवंश के लिए 1.80 करोड रुपये खर्च किए थे.

गौरतलब है कि राजस्थान में सूखा प्रभावित इलाकों में 1682 गौशालाओं में 5.86 लाख गायें हैं. प्रदेश में कुल 2 हजार 562 गौशालाएं हैं, जिनमें 8.58 लाख गायें हैं.

First published: 25 June 2018, 15:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी