Home » इंडिया » Rajasthan: What will Sachin Pilot do now, 22 MLAs did not reach Congress meeting
 

राजस्थान : अब भी कर सकते हैं सचिन पायलट बड़ा खेल, कांग्रेस की मीटिंग में नहीं पहुंचे 22 विधायक

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2020, 14:46 IST

राजस्थान में कांग्रेस के सियासी संकट के बीच आज हुई विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट फिर से नहीं पहुंचे. समाचार एजेंसी ANI के अनुसार कांग्रेस विधायक दल (CLP) की बैठक में 102 विधायक मौजूद थे. जयपुर के फेयरमोंट होटल में चल रही बैठक में उपस्थित 102 विधायकों ने सचिन पायलट को पार्टी से हटाने की मांग की. जिसके बाद रणदीप सुरजेवाला ने घोषणा कि की पायलट को उप-मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया है. सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया है, उनकी जगह गोविंद सिंह डोटासरा को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष बनाया गया है. सुरजेवाला ने बताया कि बैठक में सर्वसम्मति से सचिन पायलट, विश्वेंद्र सिंह और श्री रमेश मीणा को  मंत्री पद से हटाया गया है.

बताया जा रहा है पायलट दिल्ली में मौजूद हैं और वह बीजेपी के संपर्क में हैं. आज हुई बैठक में अनुपस्थित रहे विधायकों के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया गया. बैठक से पहले सचिन पायलट का इंतज़ार किया गया लेकिन जब वह बैठक में नहीं पहुंचे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है. उधर भाजपा नेता ओम माथुर का कहना है कि सचिन पायलट के लिए पार्टी के द्वार खुले हैं, उनका स्वागत है.


22 विधायक मीटिंग में नहीं पहुंचे 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आज कांग्रेस की बैठक में 22 विधायक नहीं पहुंचे. राजस्थान पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार सचिन पायलट गुट में रमेश मीणा, विश्वेन्द्र सिंह, दीपेंद्र सिंह, भंवर लाल शर्मा, राकेश पारीक, मुरारी लाल मीणा, जीआर खटाना, इंद्रराज गुर्जर, गजेंद्र सिंह शक्तावत, हरिश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, पीआर मीणा, मुकेश भाकर, सुरेश मोदी, वेदप्रकाश सोंलकी, अमर सिंह जाटव, राम निवास गवड़िया शामिल हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार तकरीबन 17 विधायक पायलट का साथ दे सकते हैं. हालांकि इससे पहले पायलट ने दावा किया था कि उनके साथ 30 विधायकों का समर्थन है. 

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने मीटिंग से पहले कहा था  कि हम सचिन पायलट को दूसरा मौका दे रहे हैं, उन्हें विधायक दल की बैठक में भाग लेने का आमंत्रण दिया गया है. उन्होंने एक ट्वीट में कहा ''मैं सचिन पायलट और उनके सभी साथी विधायकों से अपील करता हूं की वे आज की विधायक दल की बैठक में शामिल हों. कांग्रेस की विचारधारा और मूल्यों में अपना विश्वास जताते हुए कृपया अपनी उपस्थिति निश्चित करें व श्रीमती सोनिया गांघी जी व श्री राहुल गांधी जी के हाथ मज़बूत करें''.

सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारे पास बहुमत (101 विधायक) से ज्यादा 109 विधायक हैं. ANI के अनुसार राज्य के खाद्य और आपूर्ति मंत्री रमेश मीणा ने कहा,'वे इस संकट में सचिन पायलट के साथ खड़े हैं.'' राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा ''सरकार और (कांग्रेस) पार्टी अंतर्विरोध और अंतर कला की शिकार थी नतीजा अपमानित होकर सचिन पायलट को कांग्रेस से अलग होना पड़ा. ये दुर्भाग्य है राजस्थान का कि उसकी जनता को ऐसा नेतृत्व मिला था. हम अपनी तरफ से फ्लोर टेस्ट की डिमांड नहीं कर रहे हैं''.

राजस्थान : कांग्रेस विधायक दल की बैठक में फिर नहीं पहुंचे पायलट, BJP ने कहा-नहीं है फ्लोर टेस्ट की डिमांड

उन्होने कहा ''पहली बात तो ये कि ये सरकार जाए ये हमारी कोशिश रहेगी. दूसरा राजस्थान की जनता और लोगों के हित में जो होगा वही किया जाएगा. अगर आवश्यकता पड़ी तो आज दोपहर 12 बजे हम बैठेंगे और वर्तमान राजनीतिक स्थितियों पर चर्चा करेंगे''. भाजपा नेता उमा भारती, राजस्थान राजनीतिक संकट पर कहा ''सारा संकट राहुल गांधी और उनके खानदान के कारण है क्योंकि वो इतना अपमान करते हैं नौजवानों का उनको इतना नीचा दिखाते हैं उनसे इतनी ईर्ष्या रखते हैं...जब तक राहुल गांधी खानदान के लोग कांग्रेस में रहेंगे कांग्रेस पाताल में चली जाएगी.

Rajasthan: सचिन पायलट पर कांग्रेस ने लिया बड़ा एक्शन, डिप्टी CM और प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया

First published: 14 July 2020, 14:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी