Home » इंडिया » Rajnath Singh: As far as Govt of India is concerned, we will not compromise on terrorism at any cost
 

राजनाथ सिंह: आतंकवाद से समझौता नहीं, जाकिर नाइक के भाषणों पर नजर

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 July 2016, 14:55 IST
(फाइल फोटो)

विवादित मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक के मामले में केंद्र सरकार ने संज्ञान लिया है. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पहली बार इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि जाकिर के भाषणों पर सरकार की नजर है. 

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "केंद्र सरकार ने जाकिर नाइक के भाषणों का संज्ञान लिया है और इस मामले में जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए हैं. उनके सीडी और भाषणों की जांच चल रही है और कानून के मुताबिक उचित कार्रवाई की जाएगी."

जाकिर नाइक के विवादों में आने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री की ओर से यह पहला बयान है. इससे पहले संकेत मिले हैं कि भड़काऊ भाषण के आरोप में विवादों में घिरे इस्लाम के प्रचारक जाकिर नाइक की जल्द गिरफ्तारी हो सकती है.

जाकिर नाइक पर कसेगा शिकंजा

इस्लाम के प्रचार-प्रसार के नाम पर भड़काऊ भाषण देने वाले जाकिर नाइक पर शिकंजा कसता जा रहा है. जाकिर नाइक अभी देश से बाहर हैं और उनके वतन लौटने पर गिरफ्तारी हो सकती है.

पेशे से डॉक्टर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के प्रमुख जाकिर नाइक ढाका के डिप्लोमैटिक इलाके में हुए आतंकी हमले के बाद से सवालों के घेरे में हैं. हमले में शामिल कुछ आतंकियों के उनके भाषण से प्रभावित होने की खबर है.

केंद्रीय गृह मंत्री से जब इस मामले में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, "जाकिर नाइक के मुद्दे को भारत सरकार गंभीरता से ले रही है. आतंकवाद के मुद्दे पर हम किसी भी कीमत पर समझौता नहीं करेंगे."

फातमी ने किया समर्थन

एक तरफ जहां जाकिर नाइक को लेकर देश भर में बहस चल रही है. वहीं दूसरी ओर उनके समर्थन करने वालों की भी कमी नहीं हैं. लालू यादव की पार्टी आरजेडी के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अशरफ अली फातमी ने कहा कि नाइक इस्लाम ही नहीं, बल्कि सभी धर्मों के स्कॉलर हैं.

इससे पहले गुरुवार को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम  वेंकैया नायडू ने मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के भाषणों को आपत्तिजनक बताते हुए संकेत दिया था कि सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है.

नायडू ने भाषणों का कहा आपत्तिजनक

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने इस दौरान कहा, "गृह मंत्रालय सबका विश्लेषण करेगा. जाकिर नाइक के भाषण ‘आपत्तिजनक’ हैं."

ढाका आतंकी हमले के बाद खुलासा हुआ कि एक जुलाई को हमला करने वाले आतंकियों में दो उसके भाषणों से प्रेरित हुए थे.

मारे गए आतंकियों में शामिल बांग्लादेश में सत्तारूढ़ अवामी लीग के नेता के पुत्र रोहेन इम्तियाज ने पिछले साल फेसबुक पर जारी एक संदेश में पीस टीवी के धर्म प्रचारक नाइक का हवाला दिया था. जिसमें नाइक ने कहा, "सभी मुसलमानों से आतंकी बन जाने का आग्रह कर रहा हूं." 

'धर्मनिरपेक्ष नेताओं की उपज'

इस बीच केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता गिरिराज सिंह ने जाकिर नाइक को ‘देश के तथाकथित धर्मनिरपेक्ष नेताओं की उपज’ बताते हुए कहा कि अगर नाइक दोषी पाए जाते हैं, तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले गिरिराज ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर इशारों ही इशारों में निशाना साधा.

उन्होंने कहा, "बिहार में इशरत जहां को बेटी बनाने, देश में दाऊद को भाई कहने और अफजल गुरु का पक्ष लेने वाले लोग हैं. ये वे लोग हैं जो ‘भारत माता की जय’ के नारे नहीं लगा पाते हैं." 

एक निजी चैनल से बातचीत करते हुए गिरिराज ने कहा, "भारत में अभी और भी कई जाकिर नाइक जैसे नेता और वैसे ही लोग मौजूद हैं. देश की जनता ने राष्ट्रवादी नरेंद्र मोदी को पहचान लिया था, इसलिए उन्हें प्रधानमंत्री बनाया है."

First published: 8 July 2016, 14:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी