Home » इंडिया » Rajnath Singh just part of two cabinet committee and notably missing from political affairs committee
 

राजनाथ सिंह का घटा कद, 8 कैबिनेट कमेटी में सिर्फ दो मेंं मिली जगह, अमित शाह सभी में मौजूद

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2019, 11:17 IST

मोदी सरकार 2 में रक्षा मंत्री बनाए गए राजनाथ सिंह का कद घटता नजर आ रहा है. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अमित शाह सबसे पॉवरफुल मंत्री के रूप में उभरे हैं. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का महत्वपूर्ण कैबिनेट समितियों में शामिल नहीं होना आश्चर्यचकित कर रहा है.

मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में अब तक 8 कैबिनेट समितियों कर लिया है. लेकिन राजनाथ सिंह को इनमें से मात्र 2 कैबिनेट समितियों में जगह दी गई है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सभी 8 कैबिनेट समितियों में शामिल हैं. स्वयं पीएम मोदी 6 कैबिनेट समितियों का हिस्सा हैं. जबकि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सात समितियों का हिस्सा हैं.

इसके अलावा रेल मंत्री पीयूष गोयल को 5 कैबिनेट समितियों में जगह दी गई है. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री की जिम्मा निभा रहे राजनाथ सिंह को राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति में भी शामिल नहीं किया गया. राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति नीतियों पर निर्णय लेती है.

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में बनाई गई राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति में गृहमंत्री अमित शाह, नितिन गडकरी, रवि शंकर प्रसाद, हर्ष वर्धन, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी और सहयोगी दलों से राम विलास पासवान, हरसिमरत कौर बादल और अरविंद सावंत को शामिल किया गया है.

हालांकि राजनाथ सिंह को आर्थिक और सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति में जगह दी गई है. इस तरह वह इन दो समितियों का हिस्सा हैं. उन्हें राजनीतिक मामलों की समिति से बाहर रखना इसलिए भी आश्चर्यजनक है क्योंकि ज्यादातर प्रधानमंत्री के ठीक बाद शपथ लेने वाला व्यक्ति प्रधानमंत्री की अनुपस्थिति में इस समिति की बैठक की अध्यक्षता करता है. गौरतलब है कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रक्षा मंत्री रहीं निर्मला सीतारमण पिछली बार इस समिति का हिस्सा थीं.

बांग्लादेशी एक्ट्रेस ने ज्वाइन की BJP तो मच गया बवाल, लोग बोले- नागरिकता बताइए

गठबंधन टूटा तो आहत हुए अखिलेश यादव, मायावती के सम्मान को लेकर कह दी ये बात

First published: 6 June 2019, 12:10 IST
 
अगली कहानी