Home » इंडिया » Rajya Sabha Marshal dress change, former Army chief said it is illegal
 

राज्यसभा मार्शल की ड्रेस में दिखी मिलिट्री की छाप तो भड़के पूर्व आर्मी चीफ, कहा- यह गैरकानूनी है

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 November 2019, 12:05 IST

राज्यसभा के मार्शलों का ड्रेस बदल गया है, जिसे लेकर अब विवाद हो गया है. पूर्व आर्मी चीफ इसे लेकर भड़क गए हैं. सेना के पूर्व प्रमुख जनरल वीपी मलिक के अलावा कई पूर्व सेना अधिकारियों ने इस पर नाराजगी जताई है. वीपी मलिक ने इस पर ट्वीट किया, "गैर सैन्य कर्मियों द्वारा सैन्य वर्दी की नकल करना और पहनना गैरकानूनी है."

वीपी मलिक ने लिखा कि यह सुरक्षा के लिए खतरा है. उम्मीद है कि उप राष्ट्रपति, राज्यसभा और राजनाथ सिंह जी उस पर उचित कार्रवाई करेंगे. वीपी मलिक के अलावा मोदी सरकार में मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख वीके सिंह और भारतीय सेना के पूर्व प्रमुख ने भी कहा कि जो भी किया गया वह गैरकानूनी है.

 

दूसरी तरफ राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि पिछले कई दशकों से चल रहे इस ड्रेस कोड में बदलाव की मांग खुद मार्शलों ने ही की थी. इसके बाद मार्शलों का ड्रेस बदलने का उच्चस्तरीय फैसला लिया गया. नए ड्रेस कोड के तहत सदन में तैनात मार्शलों को कलगी वाली सफेद पगड़ी और पारंपरिक औपनिवेशिक परिधान की जगह अब गहरे हरे रंग की वर्दी और कैप पहननी होगी. इसमें मिलिट्री की छाप देखने को मिल रही है.

सूत्रों का कहना है कि मार्शलों ने इस बदलाव पर खुशी जाहिर की है. एक अधिकारी के अनुसार, मार्शलों ने उनके ड्रेस कोड में बदलाव करने की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि यह ऐसा परिधान होना चाहिए जो पहनने में सुगम और आधुनिक लुक वाली हो. इनकी मांग को स्वीकार कर राज्य सचिवालय और सुरक्षा अधिकारियों ने नई ड्रेस डिजायन के लिए कई बैठकें की और नये परिधान को अंतिम रूप दिया. 

राज्यसभा के मार्शल का बदला ड्रेस, अब सफेद की जगह दिखेगी मिलिट्री की छाप

JNU छात्रों का संसद कूच, पुलिस बैरिकेडिंग तोड़कर आगे बढ़े

First published: 19 November 2019, 11:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी