Home » इंडिया » BSP expels MP Narendra Kashyap arrested in dowry death case
 

बसपा ने सांसद नरेंद्र कश्यप को पार्टी से निकाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 May 2016, 16:05 IST

बीएसपी ने राज्यसभा सांसद नरेंद्र कश्यप और पार्टी के नेता हीरालाल कश्यप को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. माना जा रहा है कि दोनों की लड़ाई से पार्टी की साख गिर रही थी, जिसके बाद उन्हें निकालने का फैसला लिया गया.

सांसद नरेंद्र कश्यप, गाजियाबाद में अपनी बहू की संदिग्ध हालात में मौत के मामले में जेल में बंद हैं. वहीं उनके समधी हीरालाल कश्यप को भी पार्टी ने निष्कासित कर दिया. बसपा प्रमुख मायावती ने ये फैसला लिया है.

बहू की संदिग्ध मौत का मामला


महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि दोनों के आपसी झगड़े की वजह से पार्टी की छवि को नुकसान हो रहा था. गाजियाबाद में छह अप्रैल को उनके बड़े बेटे सागर की पत्नी हिमांशी की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से घर में मौत हो गई थी.

पढ़ें: बसपा सांसद नरेंद्र कश्यप बहू की हत्या के आरोप में गिरफ्तार

नरेंद्र की पुत्रवधु हीरालाल की बेटी थी. हीरालाल ने अपनी बेटी की हत्या करने का आरोप लगाते हुए नरेंद्र कश्यप और उनके परिवार वालों को नामजद किया था. इसी वजह से नरेंद्र कश्यप को जेल भी जाना पड़ा. 

समधी हीरालाल भी निकाले गए


बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद नरेन्द्र कश्यप और बसपा सरकार में मंत्री रहे हीरालाल आपस में समधी हैं.

पुलिस ने हीरालाल की शिकायत पर नरेन्द्र कश्यप, उनकी पत्‍‌नी और पुत्र को गिरफ्तार किया था. हीरालाल का आरोप है कि हिमांशी के ससुराल वाले लगातार ज्यादा दहेज की मांग कर रहे थे.

पुलिस ने दहेज निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज करने के बाद नरेंद्र कश्यप के अलावा उनकी पत्नी और बेटे सागर को भी गिरफ्तार किया था.

हिमांशी के चाचा हरिओम ने आरोप लगाया था कि नरेंद्र कश्यप का परिवार दहेज के लिए उनकी बेटी को प्रताड़ित करता था. हिमांशी की तीन साल पहले सागर से शादी हुई थी.

First published: 20 May 2016, 16:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी