Home » इंडिया » rajya sabha: today is the last day for 57 mp
 

राज्यसभा से आज 57 सांसदों की विदाई, संसद में बदलेगा समीकरण

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 May 2016, 12:07 IST

संसद में आज बजट सत्र के दूसरे हिस्से का आखिरी दिन है. इसके साथ ही राज्यसभा के 57 सांसदों का कार्यकाल भी खत्म हो रहा है. 

रिटायर होने वाले कुछ सांसद ऐसे हैं जिनका कार्यकाल एक अगस्त तक है, लेकिन बजट सत्र का आज आखिरी दिन है, और अब मानसून सत्र में ही संसद की कार्यवाही होगी, ऐसे में उनका भी ये आखिरी सेशन है.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु और ग्रामीण विकास मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह का कार्यकाल एक अगस्त को समाप्त हो जाएगा. वहीं जुलाई में 33 जबकि जून में 20 सांसदों का कार्यकाल पूरा हो रहा है. 

इन सांसदों में पांच मोदी सरकार में मंत्री भी हैं. इनमें वेंकैया नायडू, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण, वाईएस चौधरी और मुख्तार अब्बास नकवी शामिल हैं.

इसके साथ ही उच्च सदन से कांग्रेस के भी जयराम रमेश और हनुमंत राव सहित 16 सांसद आज विदाई ले रहे हैं. राज्यसभा में इन सांसदों की सेवानिवृत्ति के बाद उच्च सदन के राजनीतिक समीकरण भी बदलने तय हैं.

खाली हुई सीटों पर 11 जून को चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि चुनाव के बाद कांग्रेस को कुछ सीटों का नुकसान होगा, जबकि बीजेपी की कुछ सीटें बढ़ेगीं. 

अभी एनडीए के 62 सांसद


वर्तमान स्थिति में 245 सदस्यों वाले राज्यसभा में बीजेपी के 49 सांसदों समेत एनडीए के 62 सांसद हैं, इनमें सात नामित सांसदों को शामिल कर दें तो एनडीए का आंकड़ा 69 हो जाता है.

बीजेपी को उम्मीद है कि जून में होने वाले चुनाव में उसकी चार सीटें बढ़ सकती हैं. वहीं यूपीए में कांग्रेस के 64 सांसदों सहित कुल 80 का संख्या बल बनता है.

अगर इसमें एआईएडीएमके, बीजू जनता दल, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के सांसदों को शामिल कर लें, तो गैर एनडीए विपक्षी सांसदों का आंकड़ा 90 हो जाता है.

11 जून को राज्यसभा के लिए जिन-जिन प्रदेशों की सीटों पर चुनाव होने वाले हैं वो इस तरह हैं:

यूपी में 11, तमिलनाडु में छह, महाराष्ट्र में छह, बिहार में पांच, आंध्र प्रदेश में चार, कर्नाटक में चार, मध्य प्रदेश में तीन, ओडिशा में तीन, हरियाणा में दो, झारखंड में दो, पंजाब में दो, छत्तीसगढ़ में दो, तेलंगाना में दो और उत्तराखंड में एक सीट शामिल है.

इसके अलावा चार दूसरी सीटों पर भी कुछ सदस्यों के निधन या इस्तीफे के बाद रिक्त हुई सीटों पर चुनाव होंगे.

First published: 13 May 2016, 12:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी