Home » इंडिया » Ram Mandir Bhumi Pujan: Construcion of Ram Mandir likey to complete in 32 months
 

Ram Mandir Bhumi Pujan: जानिए कितने दिनों में बनकर तैयार होगा भव्य राम मंदिर

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2020, 12:50 IST

Ram Mandir Bhumi Pujan: अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) के लिए भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) की सभी तैयारियां पूरी हो गई है. कुछ ही देर बाद प्रधानमंत्री मोदी मंदिर (Pm Modi) निर्माण के लिए पहली ईट रखेंगे. इस कार्यक्रम के लिए पूरी अयोध्या को किसी दुल्हन की तरह सजाया गया है. राम मंदिर भूमि पूजन के कार्यक्रम के लिए कुल 175 लोगों को न्योता दिया गया है, जो इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनेंगे. हालांकि, कई लोगों के मन में सवाल है कि भूमि पूजन के कितनों दिनों बाद राम मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा.

खबरों के अनुसार, बताया जा रहा है कि राम मंदिर का निर्माण करीब साढ़े तीन साल में पूरा हो जाएगा. एबीपी न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ट्रस्टी स्वामी परमानंद महाराज ने राम मंदिर के भूमि पूजन के कार्यक्रम के बाद पूरा सोर से होगा जल्द से जल्द मंदिर निर्माण पूरा किया जाएगा. बताया जा रहा है कि ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण करने वाली कंपनी एल एंड टी को मंदिर निर्माण पूरा करने के लिए अगले 32 महीने का वक्त दिया है.


बता दें, राम मंदिर निर्माण का काम श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट ने लार्सन एंड टूब्रो कंपनी को काम सौंपा है. कहा जा रहा है कि निर्माण के डेढ़ साल के अंदर मंदिर का पहला तल का निर्माण पूरा हो जाएगा और लोग राम लला के दर्शन कर पाएंगे. खबरों के अनुसार, प्रथम तल के निर्माण के बाद, उसके अगले दो सालों के अंदर मंदिर के दोनों तलों का निर्माण किया जाएगा.

राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या के कारसेवक पुरम में बनाई गई कार्यशाला में जो पत्थर तराश के रखे गए हैं उनके अलावा देशभर में जिन जिन जगहों पर शिला पूजन हुआ है, उन सभी शिलाओं का इस्तेमाल भी राम मंदिर के निर्माण में किया जाएगा. इतना ही नहीं लाखों की संख्या में उन ईटों का भी इस्तेमाल किया जाएगा, जिनकों देश के अलग अलग हिस्सों से श्रद्धालुओं ने लाए थे.

Ram Mandir Bhoomi Pujan: राम जन्मभूमि परिसर में पारिजात का पौधा लगाएंगे पीएम मोदी, जानिए क्या है इसका खास महत्व

Ram Mandir Bhumi Pujan: इस व्यक्ति ने बनाया है राम मंदिर का डिजाइन, पैरों से मापी थी जमीन, फिर बनाया था भव्य मॉडल 

First published: 5 August 2020, 11:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी