Home » इंडिया » Ram Nath Kovind declared 14th President of India Modi turns emotional recalls 20 years old moment
 

रामनाथ कोविंद की जीत के बाद मोदी को याद आया 20 साल पुराना लम्हा

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2017, 18:11 IST
ट्विटर

गुरुवार शाम को जैसे ही रामनाथ कोविंद के देश का 14वां राष्ट्रपति निर्वाचित होने की ख़बर आई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अतीत का लम्हा याद आ गया. पीएम मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट से कोविंद के साथ अपनी बीस साल पुरानी एक तस्वीर शेयर की है. इस तस्वीर में पीएम मोदी, रामनाथ कोविंद के पारिवारिक विवाह समारोह में नज़र आ रहे हैं.

पीएम मोदी ने तस्वीर के साथ लिखा, "20 साल पहले और अब. आपको जानना हमेशा एक ख़ास एहसास रहा है. राष्ट्रपति निर्वाचित." इसके साथ ही पीएम मोदी ने रामनाथ कोविंद और उनके परिवार के सदस्यों के साथ भी अपनी एक तस्वीर ट्वीट की है.

पीएम मोदी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को भारत के 14वें राष्ट्रपति के तौर पर चुने जाने पर बधाई दी और उन्हें 'सफल और प्रेरणादायी कार्यकाल' की शुभकामनाएं दीं. मोदी ने विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को भी उनके अभियान के लिए बधाई दी.

मोदी ने ट्विटर पर कहा, "रामनाथ कोविंद जी को भारत का राष्ट्रपति चुने जाने पर बधाई. एक सफल और प्रेरणादायी कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं." उन्होंने कहा, "सांसदों और कई राज्यों द्वारा कोविंद जी को मिले व्यापक समर्थन से खुश हूं. मैं निर्वाचक मंडल के सदस्यों को धन्यवाद देता हूं."

पीएम मोदी ने यह भी कहा, "मैं मीरा कुमार जी को उनके अभियान के लिए धन्यवाद देता हूं, जो लोकतांत्रिक भावना पर आधारित रही. हमें अपने मूल्यों पर गर्व है."

ट्विटर

कोविंद को मिले 66 फीसदी मत

एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को बड़े अंतर से मात दी है. रामनाथ कोविंद ने कुल 7,02,044 मूल्य के मत हासिल किए. वहीं मीरा कुमार को निर्वाचक मंडल के 3,67,314 मूल्य के मत मिले.

इस तरह रामनाथ कोविंद ने मीरा कुमार को 3,34,730 मतों से शिकस्त दी. कोविंद को 66 फीसदी जबकि मीरा कुमार को 34 फीसदी वोट हासिल हुए. राष्ट्रपति चुनाव में 771 सांसदों और 4109 विधायकों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

25 जुलाई को शपथ ग्रहण

संसद भवन में सुबह 11 बजे से देश के 14वें राष्ट्रपति के चुनाव की काउंटिंग शुरू हुई. पहले ही राउंड में ही कोविंद ने मीरा कुमार पर 37,742 वोटों से बढ़त बना ली थी. अब 25 जुलाई को रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति की शपथ लेंगे.

वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है. रामनाथ कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र में भारत की नुमाइंदगी की है. इसके साथ ही अक्टूबर 2002 में उन्होंने यूएन जनरल असेंबली को भी संबोधित किया था.

एएनआई

वक़ालत से महामहिम तक का सफ़र

इस बार का राष्ट्रपति चुनाव इस वजह से भी खास रहा क्योंकि दोनों उम्मीदवार दलित समुदाय से थे. मूल रूप से उत्तर प्रदेश के कानपुर के निवासी रामनाथ कोविंद 1998 से 2002 तक भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके हैं. इसके अलावा वे अखिल भारतीय कोली समाज के अध्यक्ष के पद पर भी रहे. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता की जिम्मेदारी भी उन्होंने निभाई है.

वकालत के पेशे में रह चुके रामनाथ कोविंद ने यूपी और बिहार में काफी काम किया है. 1971 में वे बार काउंसिल ऑफ दिल्ली से बतौर एडवोकेट जुड़े. 1978 में वे सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड बने. इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में उन्होंने 16 साल तक वकालत की प्रैक्टिस की. उत्तर प्रदेश से वे लगातार दो कार्यकाल (1994-2000, 2000-2006) तक राज्यसभा के सदस्य रहे. आठ अगस्त 2015 को उन्हें बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया.

First published: 20 July 2017, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी