Home » इंडिया » Ram Temple Case: Supreme Court denies fast hearing on Ayodhya dispute, Swami will try another root
 

सुप्रीम कोर्ट ने किया अयोध्या विवाद में जल्द सुनवाई से इनकार, स्वामी बोले दूसरा रास्ता देखूंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2017, 15:39 IST

राम जन्मभूमि पर मंदिर या बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को जल्द सुनवाई से इनकार कर दिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक कोर्ट की बेंच ने सुब्रह्मण्यम स्वामी की अपील पर जल्द सुनवाई से इनकार कर दिया. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि हम नहीं जानते की आप इस केस में पार्टी हैं तो आप फिर अदालत के बीच में किस अधिकार से आ रहे हैं?

गौरतलब है कि पिछली सुनवाई में सर्वोच्च न्यायालय ने इसे धर्म और आस्था से जुड़ा मामला बताते हुए दोनों पक्षकारों से आपसी बातचीत के जरिए हल खोजने को कहा था. इस मामले में याचिकाकर्ता सुब्रह्मण्यम स्वामी को शुक्रवार को अदालत को बताना था कि दोनों पक्ष आपसी सहमति से मुद्दे सुलझाने को तैयार हैं या नहीं?

इसके अलावा सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर अयोध्या विवाद को जल्द निपटाने की अपील की थी. शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने मामले की जल्द सुनवाई से इनकार करते हुए कहा कि मामले के दोनों पक्षकारों को और वक्त दिए जाने की जरूरत है.

सुप्रीम कोर्ट द्वारा की गई टिप्पणी के बाद स्वामी ने ट्विटर पर दो ट्वीट किए और कहा कि जो लोग मामले को लंबा खींचना चाह रहे थे उन्हें कामयाबी मिली है और अब वो राम मंदिर निर्माण के लिए दूसरा रास्ता अपनाएंगे.

 

स्वामी के ट्वीट के मुताबिक, "आज अदालत में न्यायाधीश ने पूछा कि क्या मैं इस केस में पार्टी हूं तो मैंने जवाब दिया कि यह काम मैं पूजा करने के अपने मौलिक अधिकार के तहत कर रहा हूं."

जबकि उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, "जजों ने कहा कि उनके पास वक्त नहीं है और मामले को बंद कर दिया. दूसरे शब्दों में कहूं तो जो इस मामले को अदालत में लंबा खींचना चाहते थे, वे कामयाब रहे. मैं अब जल्द दूसरा रास्ता अपनाऊंगा."

First published: 31 March 2017, 15:39 IST
 
अगली कहानी