Home » इंडिया » Ram Temple issue: Mughal Descendant claims that BJP is not willing to make Ram temple
 

मुग़ल वंशज बनवाना चाहते हैं राम मंदिर लेकिन BJP ने ही नहीं माना मंदिर बनाने का आग्रह !

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2018, 11:05 IST

देश में चुनावी माहौल इस समय पूरी तरह से गरमाया हुआ है. एक तरफ भारतीय जनता पार्टी जनता में अपनी पकड़ को और मजबूत करने में लगी है वहीं विपक्ष ने भी चुनावों में कड़ी टक्कर देने के लिए कमर कस ली है. देश में चुनावों के वक़्त अयोध्या के राम मंदिर मसला उठना भी आम बात हो गया है. इस बार अयोध्या के राम मंदिर निर्माण को लेकर मुगलों के वंशज ने दावा किया है. मुगल वंश के अंतिम बादशाह बहादुर शाह जफर के वंशज होने का दावा करने वाले याकूब हबीबउद्दीन तुसी ने भाजपा को चुनाव के समय किया गया उसका राम मंदिर निर्माण का वादा याद दिलाया है.

खुद को मुगलों का वंशज बताने वाले याकूब हबीबउद्दीन तुसी ने कहा है कि वो मंदिर निर्माण को लेकर भाजपा के सहयोगी दलों से भी मदद लेंगे. हबीबउद्दीन तुसी का कहना है कीं वो ही मुगल खानदान के वंशज हैं. तुसी के इस दावे को उच्चतम न्यायालय ने भी वर्ष 2002 में स्वीकार कर लिया था. तुसी ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिये भाजपा की तरफ से जब उन्हें किसी तरह का कोई जवाब नहीं मिला तब वो इस मसले पर बात करने के लिए शंकराचार्य स्वरूपानन्द से सम्पर्क करने गए.

Video: PM मोदी के लिखे गाने पर नेत्रहीन बच्चियों ने किया मोहक गरबा डांस

राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर तुसी ने बताया कि उन्होंने कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ई-मेल भेजकर राम मंदिर निर्माण के लिए आग्रह किया था. लेकिन उसके इस आग्रह का कोई भी जवाब नहीं दिया गया. आगे उन्होनें कहा कि अगर अभी भी बीजेपी से बात नहीं बनी वह मंदिर निर्माण के लिए उसके सहयोगी दलों की मदद लेंगे.

तुसी ने बताया कि गोरखपुर लोगों को राम मंदिर निर्माण के लिए प्रेरित करने के लिए आये हैं. गौरतलब है कि गोरखपुर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कर्मभूमि भी कहते हैं.

First published: 13 October 2018, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी