Home » इंडिया » Ram Vilas Paswan admitted in ICU before Bihar election, Chirag Paswan writing a letter
 

बिहार चुनाव से पहले ICU में भर्ती हुए राम विलास पासवान, बेटे चिराग ने चिट्ठी लिखकर कही ये बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2020, 16:45 IST

Bihar Assembly Election: बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इससे पहले केंद्रीय मंत्री और बिहार के दिग्गज नेता राम विलास पासवान ICU में भर्ती हो गए हैं. इसकी जानकारी देते हुए लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने पार्टी कार्यकर्ताओं को ध्यान में रखते हुए एक पत्र लिखा है.

चिराग पासवान ने अपने पत्र में लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक तथा अपने पिता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के स्वास्थ्य का जिक्र किया है. उन्होंने लिखा कि राम विलास पासवान ICU में भर्ती हैं. वह बीमारी से लड़ रहे हैं. बेहद मार्मिक तरीके से लिखे इस पत्र में चिराग ने कहा कि जब आज उन्हें मेरी जरूरत है तो मुझे उनके साथ रहना चाहिए.

उन्होंने लिखा कि यदि मैंने ऐसा नहीं किया तो मैं अपने आपको कभी माफ नहीं कर पाऊंगा. फिलहाल चिराग पासवान बिहार चुनाव के मद्देनजर एनडीए में सीट बंटवारे को लेकर दिल्ली में हैं. 20 सितंबर को उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिए यह पत्र जारी किया है. इस पत्र में उन्होंने लिखा कि राम विलास पासवान ने कोरोना काल में लोगों को राशन मिलने में दिक्कत न आये इस कारण अपना रूटीन हेल्थ चेकअप टालते रहे.

50 लीटर की कार की टंकी, पेट्रोल पंप ने डाल दिया 52 लीटर तेल, मचा बवाल तो आई पुलिस

उन्होंने लिखा कि इसी कारण ही वह थोड़ा अस्वस्थ हो गए हैं. उनका पिछले तीन हफ्तों से दिल्ली में इलाज चल रहा है. अस्पताल में वह अपने पापा को रोज बीमारी से लड़ते देख रहे हैं. उन्होंने पत्र में लिखा कि उनके पापा ने उनसे कई बार पटना जाने का सुझाव दिया, लेकिन उनका बेटा होने के नाते उन्हें छोड़कर पटना जाना मेरे लिए संभव नहीं है.

चिराग ने लिखा कि पार्टी अध्यक्ष के नाते मुझे अपने उन साथियों की चिंता है, जिन्होंने अपने जीवन को बिहार के लिए समर्पित कर दिया. उन्होंने बताया कि गठबंधन के साथियों से अब तक बिहार चुनाव के लिए सीटों के तालमेल पर कोई चर्चा हुई है. चिराग ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि रामविलास पासवान जब तक ठीक नहीं हो जाते, तब तक पार्टी के सभी नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में ही रहें.

Monsoon session: भारी हंगामे बीच राज्यसभा में पास हुआ कृषि बिल, सरकार ने कांग्रेस पर लगाए ये आरोप

Monsoon Session : अब सरकार लायी ऐसा विधेयक- 300 कर्मचारियों वाली कंपनियां बिना मंजूरी करेंगी छंटनी

First published: 20 September 2020, 16:45 IST
 
अगली कहानी