Home » इंडिया » Ram Vilas Paswan asked to make sanitation worker salary similar to IAS officer
 

IAS अधिकारी के बराबर हो सफाईकर्मी का वेतन- राम विलास पासवान

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2018, 9:20 IST
(file photo)

केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने शुक्रवार को सफाईकर्मियों को भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारियों के समान वेतन देने की मांग की. पासवान ने कहा कि सीवर की हाथ से सफाई का काम बंद किया जाना चाहिए और जो कोई इस कार्य में संलग्न हो, उसे दंडित किया जाना चाहिए.

उन्होंने सफाईकर्मियों का वेतन बढ़ाकर आईएएस अधिकारी के वेतन के बराबर करने की मांग की. लोक जनशक्ति पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए राम विलास पासवान ने कहा कि प्रौद्योगिकी के विकास के युग में इनसान को सीवर में उतार कर सफाई करवाना आपराधिक मामला है.

ये भी पढ़ें- JNU में फिर हुआ बवाल, लव जिहाद पर बनी फिल्म दिखाने पर भिड़े तो छात्र समूह, कई घायल

पार्टी की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक, पासवान ने कहा, "हाथ से सीवर की सफाई का अमानवीय कार्य बंद किया जाना चाहिए. मैं इसे कानूनन अवैध घोषित करने की मांग करता हूं, इस कार्य में शामिल व्यक्ति व संस्थान को दंडित किया जाना चाहिए."पासवान ने कहा कि सफाईकर्मी दूसरों की गंदगी उठाता है लेकिन उनके बच्चे भूख सोते हैं.

संवाददाताओं से बातचीत के दौरान पासवान ने कहा, "हमें इस व्यवस्था को बदलने की जरूरत है. हम इसके लिए संघर्ष कर रहे हैं. अगर हम उनको सम्मानजनक जिंदगी देना चाहते हैं तो उनकी मजदूरी बढ़ाकर आईएएस अधिकारियों के वेतन के बराबर करें."

ये भी पढ़ें- Dear PM मोदी, चीन में डोकलाम और CPEC पर कुछ बोलिए, भारत आपको सुनना चाहता है'

उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए भी न्यूनतम मजदूरी तय करने की मांग की और कहा कि इसके बिना स्वस्थ भारत का निर्माण असंभव है. पासवान ने कहा कि पहले लोग हाथों में झाड़ू थामने में शर्म महसूस करते थे लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के बाद अब स्थिति बदल गई है.

First published: 28 April 2018, 8:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी