Home » इंडिया » Ram Vilas Paswan left the post after being the LJP President after 19 years
 

19 साल तक LJP अध्यक्ष रहने के बाद राम विलास पासवान ने छोड़ा पद

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 November 2019, 16:10 IST

साल 2000 में लोक जनशक्ति पार्टी का गठन करने के 19 साल बाद राम विलास पासवान ने पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ दिया है. राम विलास पासवान ने अपनी राजनीतिक विरासत अपने बेटे चिराग पासवान के हाथों में सौंप दी है. आज एलजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में चिराग पासवान को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया.

दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष और हाजीपुर सांसद पशुपति कुमार पारस ने चिराग को पार्टी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा. इस प्रस्ताव को पूर्ण समर्थन से पारित कर दिया गया. एलजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निवास स्थान 12 जनपथ में हुई. इस बैठक में राष्ट्रीय कमेटी के सभी पदाधिकारियों तथा सभी प्रदेशों के अध्यक्षों ने हिस्सा लिया.

चिराग पासवान ने साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी के साथ गठबंधन बनाने में बड़ी भूमिका निभाई थी. लोक जनशक्ति पार्टी के कई बड़े फैसलों में उनका हाथ रहा है. वह राजनीति में काफी सक्रिय रहते हैं. एलजेपी के कार्यकर्ता उन्हें ही पार्टी के चेहरे के तौर पर देखने लगे थे. इसी कारण बिना किसी विरोध के उन्हें पार्टी अध्यक्ष चुन लिया गया.

अगले साल बिहार में विधानसभा के चुनाव होने हैं. इससे पहले चिराग पासवान का एलजेपी के अध्यक्ष के तौर पर चुने जाना काफी मायने रखता है. बिहार प्रदेश की कमान पहले ही पूर्व सांसद स्व. रामचन्द्र पासवान के बेटे प्रिंस राज को सौंपी जा चुकी है. इस तरह यह देखना दिलचस्प होगा कि चिराग और प्रिंस की जोड़ी सियासत में क्या गुल खिलाती है.

महाराष्ट्र में आदित्य ठाकरे को CM बनाने के लिए NCP तैयार, लेकिन रखी ये बड़ी शर्तें

सुषमा स्वराज ने गंभीर बीमारी के बाद भी विदेश में इलाज से कर दिया था मना, कहा था- देश से बड़ा कुछ नहीं

First published: 5 November 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी