Home » इंडिया » ramdev invest on yoga research 10 thousand crore
 

योग रिसर्च पर रामदेव खर्च करेंगे 10 हजार करोड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2016, 11:18 IST
(कैच)

योग को दुनिया भर में लोकप्रिय बनाने वाले योग गुरु रामदेव ने कहा है कि पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड जल्द ही देश में योग अनुसंधान पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगा.

रामदेव ने यह बातें दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘योगा फॉर बॉडी एंड बियोंड’ के उद्घाटन सत्र में कहीं. रामदेव ने कहा, "हम अभी योग अनुसंधान पर काफी राशि खर्च कर रहे हैं, लेकिन जल्द ही हम इस पर विशेष रूप से 10 हजार करोड़ रुपये अलग से खर्च करेंगे."

उन्होंने योग को वैश्विक पटल पर जगह दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हुए उनकी सराहना की.

रामदेव ने सरकार के सामने मांग रखी कि योग के लिए सरकारी कोष बढ़ाया जाए, क्योंकि प्राचीन भारतीय विज्ञान को जन-जन तक पहुंचाया जाना चाहिए.

योग गुरु ने कहा, "दुनिया बहुत बड़ी है. हम जल्द ही एक लाख योग प्रशिक्षक तैयार करेंगे."

इस मौके पर गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पंड्या ने कहा कि तनाव आज की बड़ी समस्या है. सिर्फ योग ही एक ऐसा साधन है, जो तनाव से निजात दिला सकता है.

2020 में 20 हजार करोड़ राजस्व का अनुमान

बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद का कारोबार पिछले चार सालों के दौरान 1100 फीसदी बढ़ा है. पिछले वित्त वर्ष 2015-16 में पतंजलि का कुल राजस्व करीब 5000 करोड़ रुपये से अधिक रहने का अनुमान है. वहीं पतंजलि ने मौजूदा वित्त वर्ष 2016-17 के लिए 10,000 करोड़ रुपये के राजस्व का लक्ष्य रखा है. 

आईआईएफएल की रिपोर्ट के मुताबिक, '2020 में पतंजलि का राजस्व 20,000 करोड़ रुपये छूने का अनुमान है.' रिपोर्ट में कहा गया था कि पतंजलि की तरक्की कोलगेट और डाबर की कीमत पर होगी. वहीं आईटीसी और जीसीपीएल को अपेक्षाकृत कम नुकसान होगा.

वित्त वर्ष 2020 में पतंजलि आयुर्वेद का राजस्व 20,000 करोड़ रुपये रहने की उम्मीद है. पतंजलि आयुर्वेद का सबसे ज्यादा बिकने वाला ब्रांड घी रहा है.

पिछले वित्त वर्ष 2015-16 में पतंजलि का कुल राजस्व करीब 5 करोड़ रुपये से अधिक रहा और इसमें अकेले घी से 1,308 करोड़ रुपये की कमाई हुई.

First published: 23 June 2016, 11:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी