Home » इंडिया » Rampal life imprisonment in murder case FIR number 430, In front of judge started crying
 

रामपाल को मिली उम्रकैद की सजा तो जज के सामने ही फूट-फूटकर रोने लगा, घुटने पर बैठकर बोला- रहम करो

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 October 2018, 13:27 IST

हरियाणा के सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल को हत्या के दूसरे मामले में भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. जज ने जैसे ही सजा का ऐलान किया तो रामपाल फूट-फूटकर रोने लगा और घुटनों के बल बैठ गया. 

बता दें कि कोर्ट में सुनवाई शुरू होने से पहले खुद जज ने ही रामपाल को बताया था कि वह कबीर के दोहे सुनते हैं. इसके बाद जब जज ने सजा का ऐलान किया तो रामपाल ने उन्हें याद दिलाया कि आप कबीर भक्त हैं इतनी कठोर सजा क्यों दे रहे हैं. और इतना कहते ही रामपाल फूट-फूटकर रोने लगा और घुटने के बल बैठ गया. उसने रोते हुए बोला कि कुछ तो रहम करें. लेकिन जज ने इस पर कुछ जवाब नहीं दिया और उठकर चल दिए.

गौरतलब है कि रामपाल को पांच महिलाओं और एक बच्चे की हत्या के मामले में कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. रामपाल के अलावा उसके बेटे वीरेंद्र समेत 15 दोषियों को भी सजा सुनाई गई है.

First published: 17 October 2018, 13:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी