Home » इंडिया » Randeep Hooda raveena tandone questions pm modi Pakistan kulbhushan jadhav case
 

बाॅलीवुड ने किया पीएम मोदी से सवाल, 'क्या हम बस यूं ही बैठकर जाधव को मरते हुए देखेंगे?'

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2017, 11:31 IST
Raveena

अभिनेता ऋषि कपूर, सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य, पूर्व पाकिस्तानी गायक अदनान सामी, ऐक्टर रणदीप हुड्डा के बाद अब बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर पीएम से सवाल किए हैं. रवीना ने कुलभूषण को जासूस बताकर मौत की सजा देने के पाकिस्तान के फैसले पर अपना गुस्सा जताते हुए  सोशल साइट ट्विटर हैंडल के जरिए पीएम मोदी, विदेशमंत्री सुषमा स्वराज और होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह को टैग करते हुए सवाल किया है.

रवीना ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'क्या हम बस यूं ही बैठकर जाधव को मरते हुए देखेंगे?' यह पहला मौका नहीं है जब बेबाक रवीना ने देश या समाज से जुड़े किसी गंभीर विषय पर सवाल उठाया हों. वह पहले भी ऐसे विषयों पर खुलकर अपने विचार और सवाल रखती रहीं हैं.

आपको बता दें कि इसके पहले अभिनेता रणदीप हुड्डा ने भी भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को जासूस बताकर मौत की सजा देने के पाकिस्तान के फैसले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. अभिनेता रणदीप हुड्डा का इस पर कहना है कि यह सरबजीत की दुर्दशा को याद दिलाता है. उन्होंने कहा, 'कोई मुकदमा नहीं, कोई सबूत नहीं, सिर्फ बंद कमरे में सैन्य अदालत की कार्रवाई?

यह झूठ है. पाकिस्तान दूसरा सरबजीत बना रहा है.' रणदीप ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग करते हुए ट्वीट किया, 'मेरा हृदय उनके साथ है. पाकिस्तान में जबरन जुर्म कबूलने के लिए अकल्पनीय यातनाएं और मानवाधिकार उल्लंघन. मुझे देश के मजबूत नेतृत्व पर विश्वास है. उम्मीद है इसे खत्म किया जाएगा.'

इस मामले पर सलीम खान, ऋषि कपूर भी अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज कर चुके हैं. 

 

कुलभूषण जाधव को पिछले साल ईरान के नियंत्रित बलूचिस्तान इलाके से 3 मार्च को अरेस्ट किया गया था. भारत सरकार का कहना है कि पूर्व नौसेना अधिकारी जाधव वहां बिजनस ट्रिप के लिए गए थे और उनके पास वैध पासपोर्ट और ईरानी वीजा था.

पिछले साल कुलभूषण की गिरफ्तारी के बाद से ही भारत सरकार छह बार वहां के विदेश मंत्रालय को लिखकर दे चुकी कि वह सेना के रिटायर्ड अधिकारी हैं और ईरान में अपना व्यापार करते थे। रॉ से उनका कोई कनेक्शन नहीं है, उन्हें छोड़ दिया जाए. 

First published: 13 April 2017, 11:31 IST
 
अगली कहानी