Home » इंडिया » RBI making Aadhaar and PAN cards mandatory for bank accounts
 

RBI का फैसला: बैंक खाते के लिए KYC को आधार से लिंक करना ज़रूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2018, 16:30 IST

भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए आधार संख्या को जरूरी कर दिया है. रिजर्व बैंक ने एक परिपत्र जारी कर इसकी जानकारी दी है. इसमें बैंक ने "अपने ग्राहकों को जानो (केवाईसी)" के संशोधित दिशानिर्देशों के तहत जैविक पहचान पत्र आधार संख्या को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य कर दिया है.

हालांकि इस मामले में अंतिम फैसला सुप्रीम कोर्ट में आधार की अनिवार्यता को लेकर चल रहे मामले के निर्णय पर निर्भर करेगा. हालांकि रिजर्व बैंक ने जम्मू कश्मीर , असम और मेघालय में रहने वाले लोगों को इसमें छूट दी गई है. जम्मू कश्मीर , असम और मेघालय में रहने वाले लोगों को पहचान और पते के लिए ओवीडी और हालिया फोटो मांग सकते हैं. 

रिजर्व बैंक ने अपने परिपत्र में कहा है कि "जैविक पहचान पत्र" हेतु आवेदन करने वाले हर पात्र व्यक्ति से आधार संख्या और पैन या फॉर्म 60 प्राप्त करने की जरूरत होगी.

वहीं जम्मू कश्मीर, असम और मेघालय के लोग जो आधार औय आधार पंजीयन जमा नहीं कराते हैं उसने पहचान-पते के लिए बैंक ओवीडी और हालिया फोटो मांग सकते हैं. इसी साथ जो लोग भारत के रहने वाले नहीं है. उनसे भी आधार संख्या नहीं मांगी जाएगी.

बता दें कि कत केवाईसी के लिए हालिया फोटो, पैन कार्ड की फोटो कॉपी और पते के लिए ओवीडी देना अनिवार्य था. ओवीडी को पते के लिए आधिकारिक तौर पर वैध दस्तावेज माना जाता था. रिजर्व बैंक का कहना है कि आधार को बैंक खाते से जोड़ने से बैंकिग सेवाओं में भरोसा का माहौल बनेगा.

First published: 23 April 2018, 16:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी