Home » इंडिया » Public deposited Rs 5.12 lakh crore in banks and exchanged Old currency worth Rs 33,000 crore since November 10
 

नोटबंदी के बाद 5.12 लाख करोड़ जमा, 33000 करोड़ के पुराने नोट बदले गए

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2016, 16:02 IST

8 नवंबर को रात आठ बजे पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संदेश में पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट मध्यरात्रि से बंद करने का एलान किया. इसके अगले दिन देश के सभी बैंक बंद रहे.

10 नवंबर को देश के बैंक खुले और वहां लोग अपनी पुरानी करेंसी बदलने के लिए पहुंचने लगे. विमुद्रीकरण के बाद से अब तक बैंकों में कुल पांच लाख 12 हजार करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने यह जानकारी दी है. 

आरबीआई ने दी जानकारी

इसके अलावा आरबीआई ने बताया है कि 10 नवंबर के बाद से 33 हजार करोड़ रुपये के पुराने पांच सौ और एक हजार के नोट बदले जा चुके हैं.

पहले सरकार ने साढ़े चार हजार रुपये के पुराने नोट बैंकों में बदले जाने का एलान किया था, लेकिन 18 अक्तूबर से यह सीमा घटकर 2 हजार रुपये हो गई है.

1 लाख 3 हजार करोड़ की निकासी

नोटबंदी के बाद से लोगों को कैश के लिए काफी मुश्किल हो रही है. अभी लोगों को बैंक काउंटर से एक हफ्ते में अधिकतम 24 हजार रुपये निकालने की छूट है. वहीं एटीएम से एक दिन में यह सीमा 2500 रुपये है.

आरबीआई का कहना है कि 10 नवंबर के बाद से बैंक काउंटर और एटीएम के जरिए लोगों ने एक लाख तीन हजार करोड़ रुपये निकाले हैं.

अभी शादी वाले घरों को ढाई लाख रुपये निकालने की छूट मिली है. वहीं किसान भी अपने फसल कर्ज के पैसे में से एक हफ्ते में 25 हजार रुपये तक निकाल सकते हैं.

इस बीच सरकार ने किसानों को एक और राहत देते हुए एलान किया है कि बीज खरीदने के लिए सार्वजनिक उपक्रमों की दुकानों पर पांच सौ के पुराने नोट इस्तेमाल किए जा सकते हैं.

First published: 21 November 2016, 16:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी